• गुमशुदा की तलाश से लेकर कैंसर के इलाज तक की गुहार

    रायपुर ! छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आम तौर पर राजधानी रायपुर में रहने के दौरान नियमित रूप से प्रत्येक गुरुवार को 'जनदर्शनÓ में आम जनता से मुलाकात कर उनकी समस्याएं सुनते हैं। ...

        बैकुण्ठपुर के सर्किट हाउस में रमन का जनदर्शन  रायपुर !   छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आम तौर पर राजधानी रायपुर में रहने के दौरान नियमित रूप से प्रत्येक गुरुवार को 'जनदर्शनÓ में आम जनता से मुलाकात कर उनकी समस्याएं सुनते हैं। इस बार उन्होंने राजधानी रायपुर से लगभग चार सौ किलोमीटर की दूरी पर राज्य के आदिवासी बहुल कोरिया जिले के दो दिवसीय प्रवास के दूसरे दिन आज बुधवार को सवेरे जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर के सर्किट हाउस परिसर में 'जनदर्शनÓ का आयोजन किया।  मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों और आम नागरिकों की समस्याओं को सहानुभूतिपूर्वक सुनकर संबंधित अधिकारियों को उनका त्वरित निराकरण करने के निर्देश दिए। किसी ने उन्हें अपने गुमशुदा रिश्तेदार का पता लगाने के लिए आवेदन दिया तो किसी ने कैंसर के इलाज के लिए सहायता मांगी। मुख्यमंत्री से मिलने आवेदकों का तांता लगा रहा। सेवानिवृत्ति की कगार पर पहुंचे लोक निर्माण विभाग के कर्मचारी (विश्राम गृह चिरमिरी के केयरटेकर) मंगल साय ने अपने पुत्र की मृत्यु का उल्लेख करते हुए पारिवारिक जिम्मेदारियों के निर्वहन के लिए अपने गृह नगर अम्बिकापुर में तबादला करवाने का आवेदन दिया। डॉ. सिंह ने उनके आवेदन पर सहानुभूतिपूर्वक विचार किया और संबंधित अधिकारी को त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिए। जिले के ग्राम माड़ीसराई (विकासखंड भरतपुर) निवासी लाल बहादुर सिंह ने अपने रिश्तेदार ददन सिंह के गुमशुदा होने की जानकारी दी और मुख्यमंत्री से उनका पता लगाने का आग्रह किया। डॉ. सिंह ने उनके आवेदन पर पुलिस अधिकारियों को आवश्यक कार्रवाई के निर्देश जारी किए। बैकुण्ठपुर निवासी सोनुवल जोसेफ ने अपनी कैंसर की बीमारी के इलाज के लिए मुख्यमंत्री से मदद मांगी। डॉ. सिंह ने उन्हें बताया कि राजधानी रायपुर के मेडिकल कॉलेज से सम्बद्ध अम्बेडकर अस्पताल में कैंसर के इलाज के लिए सर्वश्रेष्ठ आधुनिक सुविधाएं नि:शुल्क उपलब्ध हैं। मुख्यमंत्री ने श्री जोसेफ को वहां आने और भर्ती होने की सलाह दी और कहा कि अम्बेडकर अस्पताल में उनका बेहतर से बेहतर इलाज करवाया जाएगा।  मुख्यमंत्री को ग्राम खोडरी निवासी धर्मजीत ने नर्सिंग कॉलेज में अध्ययनरत अपनी बेटी आरती को शिक्षण शुल्क से छूट दिलाने के लिए आवेदन सौंपा। डॉ. सिंह ने उनके आवेदन पर अधिकारियों को त्वरित परीक्षण के निर्देश दिए। इस मौके पर श्रम और खेल एवं युवा कल्याण मंत्री भईयालाल राजवाड़े, मनेन्द्रगढ़ के विधायक श्याम बिहारी जायसवाल, भरतपुर-सोनहत की विधायक श्रीमती चम्पादेवी पावले, सरगुजा राजस्व संभाग के कमिश्नर टी.सी. महावर, कोरिया कलेक्टर एस. प्रकाश और अन्य संबंधित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। 


अपनी राय दें