आखिर दुर्घटनाओं का दौर कब थमेगा
आखिर दुर्घटनाओं का दौर कब थमेगा?

उत्तर प्रदेश की खतौली में एक भयंकर रेल दुर्घटना हुई, जिसमें कम से कम 23 लोग मारे गए हैं और करीब 100 लोग घायल हुए हैं। घायलों में दर्जनों लोग जिंद...

देशबन्धु
2017-08-24 01:24:16
भारतीय रेल नहीं हादसों की रेल कहिए
भारतीय रेल नहीं हादसों की रेल कहिए!

भारतीय रेल व्यवस्था अव्यवस्थाओं के दौर से गुजर रही है। इसे ठीक करने के बड़े-बड़े दावे किए जाते हैं लेकिन ये व्यवस्था ही अभी तक पटरी पर नहीं आई है

देशबन्धु
2017-08-24 01:19:06
ट्रेनों की दुर्घटनाएं कब रुकेंगी
ट्रेनों की दुर्घटनाएं कब रुकेंगी?

अगले महीने हमारे प्रधानमंत्री और जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे मिलकर मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन की आधारशिला रखेंगे, जिसकी रफ्तार 350 किलोमीटर प्र...

देशबन्धु
2017-08-24 01:13:34
समस्याओं से स्वतंत्रता कब मिलेगी
समस्याओं से स्वतंत्रता कब मिलेगी?

स्वतंत्रता के इतने साल बाद भी सड़क, मोबाइल नेटवर्क, स्कूलों में शिक्षकों और स्टाफ की कमी,स्कूली इमारतों की खस्ता हाली जैसी कई समस्याएं वहीं के वह...

देशबन्धु
2017-08-17 01:43:17
नर्मदा पुनर्वास में भ्रष्टाचार
नर्मदा पुनर्वास में भ्रष्टाचार

जिन लोगों का पुनर्वास होना था और उन्हें जो क्षतिपूर्ति की रकम दी गई थी उससे उन्हें अन्य स्थानों पर जमीन खरीदना थी। इसी खरीद-फरोख्त में बड़े पैमान...

एल.एस. हरदेनिया
2017-08-17 01:39:11
तीन दशक से ज्यादा की लड़ाई लडऩे के लिये माद्दा चाहिए
तीन दशक से ज्यादा की लड़ाई लडऩे के लिये माद्दा चाहिए

धार-बड़वानी जिलों में कौन है ये हजारों की संख्या में लोग और क्यों कर रहे हैं ये आंदोलन

देशबन्धु
2017-08-17 01:35:04
नर्मदा बांध विस्थापितों को डुबोने की राजनीति का सच
नर्मदा बांध विस्थापितों को डुबोने की राजनीति का सच

नर्मदा घाटी के लोग अब एक और अन्यायकारी डूब के कगार पर है। न्याय व्यवस्था के आसरे घाटी के लोग अपने अस्तित्व के लिए संघर्षरत है

देशबन्धु
2017-08-17 01:30:11
सत्तर साल की स्वाधीन ऊर्जा
सत्तर साल की स्वाधीन ऊर्जा

पीले पड़ गये पन्नों को उधेड़ा जाय तो इतनी बढ़ी स्वाधीनता की यात्रा को समझना कोई दुरूह कार्य नहीं है

देशबन्धु
2017-08-14 23:30:50
आजाद भारत में सामाजिक भेद
आजाद भारत में सामाजिक भेद

बाबा साहेब अम्बेडकर ने बहुत पहले ही बता दिया था कि जब तक आप सामाजिक स्वतंत्रता नहीं हासिल कर लेते,कानून आपको जो भी स्वतंत्रता देता है वो आपके लिय...

देशबन्धु
2017-08-14 23:22:35
आजादी के लक्ष्य को साधने की चुनौती
आजादी के लक्ष्य को साधने की चुनौती

सामाजिक सुरक्षा के तहत रोजगार सृजन और गरीबी उन्मूलन रणनीति के तहत सरकार द्वारा स्वरोजगार योजना और दिहाड़ी रोजगार योजना चलाया जा रहा है

देशबन्धु
2017-08-14 23:14:16
आज़ाद भारत में आज़ादी की मांग
आज़ाद भारत में आज़ादी की मांग

आज़ादी के बाद देश को अग्रिम पंक्ति में खड़ा करने की अहम भूमिका निभाने वाले देश के प्रथम प्रधानमंत्री नेहरू के कद को घटाने हेतु काल्पनिक साहित्य प...

देशबन्धु
2017-08-14 23:06:05
सरहद की हिफाजत में जिंदगी बनी व्हीलचेयर
सरहद की हिफाजत में जिंदगी बनी व्हीलचेयर

देशवासियों की यह कैसी देशभक्ति है हम कह नहीं सकते हैं। लेकिन सिर्फ एक दिन के बाद देशभक्ति कहां गुम हो जाएगी, पता नहीं चलता

देशबन्धु
2017-08-14 22:55:10
कब दूर होंगे सब तरह के भेदभाव
कब दूर होंगे सब तरह के भेदभाव

यह एक बहुत चिंताजनक स्थिति है कि जाति, धर्म लिंग, रंग, नस्ल आदि के भेदभाव व इससे जुड़ी मिथकों व मिथ्या प्रचार पर आधारित अत्याचार व अन्याय हमारे स...

भारत डोगरा
2017-08-14 01:14:51
क्यों हम बेटियों को बचाएं
क्यों हम बेटियों को बचाएं

यह कैसा लोकतंत्र है जिसमें सरकार अपने नागरिकों की सुरक्षा से ऊपर अपने नेताओं और स्वार्थों को रखती है? यह कैसी व्यवस्था है जहां अपने अधिकारों की ब...

अन्य
2017-08-14 00:27:56
कैसे बचें-कैसे पढ़ें बेटियां
कैसे बचें-कैसे पढ़ें बेटियां?

आज आखिर कौन सा क्षेत्र और कौन सा विभाग ऐसा है जहां महिलाएं पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम न कर रही हों

अन्य
2017-08-14 00:15:12
मुस्लिम लड़कियों को ‘शादी शगुन’ तुष्टीकरण नहीं
मुस्लिम लड़कियों को ‘शादी शगुन’ तुष्टीकरण नहीं?

गरीब लड़कियां शादी शगुन की ज़्यादा हकदार हैं बजाए इसके कि यह शादी शगुन सरकार के अनुसार ‘केवल और केवल’ मुस्लिम स्नातक लड़कियों को ही दिया जाएगा

अन्य
2017-08-14 01:16:34
शोषण के विरुद्ध संघर्ष में महिला शक्ति आई आगे
शोषण के विरुद्ध संघर्ष में महिला शक्ति आई आगे

चिलकाना गांव में  बैठे अनेक मजदूर परिवारों के इन सदस्यों में इस बात पर तो आम सहमति थी कि मजदूरी में बहुत समय से वृद्धि न होने के कारण जीवन-निर्वा...

भारत डोगरा
2017-08-10 13:32:02
सीखने की ललक ने बनाया उद्यमी
सीखने की ललक ने बनाया उद्यमी

अगर आपके पास कोई काम करने की योजना और कौशल है, तो कोई भी रुकावट नहीं है

देशबन्धु
2017-08-10 13:09:49
यह कैसा अन्याय है
यह कैसा अन्याय है

केद्र सरकार भले ही किसानों के संकट को नजरअंदाज कर दें लेकिन यह बात साफ है

देशबन्धु
2017-08-10 12:59:54
रेल यात्रियों पर कृपा करो प्रभु’
रेल यात्रियों पर कृपा करो 'प्रभु’

देश में 'अच्छे दिन’ आए हुए तीन साल से भी अधिक का समय बीत चुका है। परंतु अभी तक बाज़ारों में बिकने वाले ज़हरीले व मिलावटी खाद्य पदार्थों की बिक्री...

अन्य
2017-08-03 03:15:18
बढ़ती आत्म-निर्भरता से ही बचेंगे गांव
बढ़ती आत्म-निर्भरता से ही बचेंगे गांव

भारत जैसे विकासशील देशों की है जहां जनसंख्या का अधिक हिस्सा अभी गांवों में ही है पर ग्रामीण जनसंख्या का एक महत्वपूर्ण हिस्सा आर्थिक संकट के दौर स...

भारत डोगरा
2017-08-03 03:09:27