विचार  > सरोकार
इस्लाम संगीत फतवा और ‘फतवेबाज़’
इस्लाम, संगीत, फतवा और ‘फतवेबाज़’

अपने विचारों को इस्लाम का कानून बताकर दूसरों पर थोपना यह भी $कतई तौर पर $गैर इस्लामी है इस्लाम धर्म से ही जुड़े सूफी समाज में जहां कव्वाली,नात,ह...

देशबन्धु
2017-03-20 00:22:08
विश्वविद्यालयों में सांप्रदायिकता का जहर
विश्वविद्यालयों में सांप्रदायिकता का जहर

विश्वविद्यालय वे स्थान होते हैं जहां आने वाली पीढ़ी के विचारों को आकार दिया जाता है। विश्वविद्यालयों में स्वस्थ व स्वतंत्र बहस और विभिन्न विचारों,

देशबन्धु
2017-03-20 00:13:09
संविधान की आवाज और हमारे बोल
संविधान की आवाज और हमारे बोल

विश्वविद्यालयों की जिस छात्र सक्रियता को राजनीति की पाठशाला होनी चाहिए थी वहां इन दिनों अशालीनता के बड़े-बड़े वृक्ष तैयार हो रहे हैं जो कहीं से व...

देशबन्धु
2017-03-20 00:06:11
चिकित्सा आयोग का विरोध क्यों
चिकित्सा आयोग का विरोध क्यों?

कालिख लगे भारतीय चिकित्सा परिषद की निरंकुश सत्ता से रोगियों के व्यापक हितों की रक्षा के लिए चिकित्सा व्यवसाय की मुक्ति आज की एक बड़ी आवश्यकता है।

देशबन्धु
2017-03-15 22:24:30
टूटने लगी है खेती की स्वावलंबी जीवनधारा
टूटने लगी है खेती की स्वावलंबी जीवनधारा

अब उत्तराखंड के कुछ अनुभवी किसानों ने एकल प्रजातियों के दुष्प्रभाव से सीख लेकर बारहनाजा की विविधता को पुन: लौटाने के अपने प्रयास प्रारंभ किए हैं।

देशबन्धु
2017-03-15 22:24:17
बुरी तरह उपेक्षित है कलन्दर समुदाय
बुरी तरह उपेक्षित है कलन्दर समुदाय

राजस्थान के टोंक शहर में कलंदर समुदाय के लगभग 200 परिवारों की बस्ती है। यहां रहते हैं मुहम्मद नूर या नूर भाई जो कलंदर समुदाय के लिए बेहतर अवसर उप...

भारत डोगरा
2017-03-15 22:18:21
बहु-फसली जमीन पर पावर ग्रिड सब-स्टेशन का निर्माण
बहु-फसली जमीन पर पावर ग्रिड सब-स्टेशन का निर्माण

जमीन, जीविका एवं पर्यावरण रक्षा समिति बलपूर्वक भूमि अधिग्रहण करने और उपजाऊ, बहु-फसली जमीन पर पावर ग्रिड सब-स्टेशन का निर्माण करने का विरोध करते ह...

देशबन्धु
2017-03-15 22:15:42
शराब प्रतिबंध ज़रूरी या  शासकीय संरक्षण
शराब: प्रतिबंध ज़रूरी या शासकीय संरक्षण?

आज शराब की बिक्री वाले कई राज्य ऐसे भी हैं जहां अपने अभिभावकों को शराब के नशे में हर वक्त डूबा देखकर स्कूल जाने वाले उनके छोटे-छोटे बच्चे भी शराब...

देशबन्धु
2017-03-15 22:10:56
शराब  प्रतिबंध ज़रूरी या शासकीय संरक्षण
शराब : प्रतिबंध ज़रूरी या शासकीय संरक्षण?

शराब की बिक्री के नाम पर सरकार द्वारा राजस्व की उगाही करना और जनता को शराब के सेवन हेतु प्रोत्साहित कर उसके अपने व उसके परिवार के जीवन से खिलवाड़...

अन्य
2017-03-15 22:08:37
बुरी तरह उपेक्षित है कलन्दर समुदाय  क्यों रोक लगी परंपरागत रोजगार पर
बुरी तरह उपेक्षित है कलन्दर समुदाय : क्यों रोक लगी परंपरागत रोजगार पर

कलन्दर समुदाय एक ऐसा समुदाय है जो बुरी तरह उपेक्षित है व हाशिए पर धकेल दिया गया है। इस समुदाय में रीछ और बंदर का खेल दिखाने का बहुत समृद्ध हुनर थ...

देशबन्धु
2017-03-15 22:01:32
रंगों का त्यौहार जीवन का उल्लास
रंगों का त्यौहार, जीवन का उल्लास

होली सौहाद्र्र, प्रेम और मस्ती के रंगों में सराबोर हो जाने का हर्षोल्लासपूर्ण त्यौहार है। यद्यपि आज के समय की गहमागहमी, अपने-तेरे की भावना, भागदौ...

देशबन्धु
2017-03-12 20:40:42
हिमाचल की अनूठी होली
हिमाचल की अनूठी होली

बसंत में जब प्रकृति के अंग प्रत्यंग से यौवन फूट पड़ता है तो होली का त्यौहार उसका श्रृंगार करने आता है। यह वसंत ऋ तु का उल्लासपूर्ण पर्व है।

देशबन्धु
2017-03-12 20:35:43
जरा संभल कर खेले होली
जरा संभल कर खेले होली

मार्च का महीना आते ही रंगों के त्योहार होली का बड़ी ही उत्सुकता से इंतजार होने लगता है। बच्चों से लेकर बड़ों तक सबको इस त्योहार का इंतजार रहता हैं।

देशबन्धु
2017-03-12 20:31:23
पाकिस्तान में होली
पाकिस्तान में होली!

रंग किसे नहीं सुहाता? प्रकृति ने कई प्रकार के रंगों से समूची धरती और उसके साथ आकाश को भी अत्यन्त आकर्षक और सुंदर बना दिया है।

देशबन्धु
2017-03-12 20:26:35
आपदा प्रबंधन में पंचायतों की महत्वपूर्ण भूमिका
आपदा प्रबंधन में पंचायतों की महत्वपूर्ण भूमिका

डा. राजेश कुण्डू तिहत्तरवें संविधान संशोधन ने पंचायतों को केवल विकासात्मक संस्थाओं का दर्जा देकर उन्हें संपूर्ण रूप से स्थानीय लोकतंत्र की धुरी ...

देशबन्धु
2017-03-08 22:41:22
लगातार मरने को मजबूर गैस पीडि़त
लगातार मरने को मजबूर गैस पीडि़त

हाल ही में भोपाल स्थित यूका परिसर में पड़े अनेक जहरीले रसायन के भस्मीकरण की एक खबर फिर आई है ऐसी खबरें और योजनाएंं पहले भी कई बार सुनी और पढ़ी गई...

देशबन्धु
2017-03-08 22:34:35
जनता जूझ रही गरीबी भुखमरी और बेरोजगारी से
जनता जूझ रही गरीबी, भुखमरी और बेरोजगारी से

तेलंगाना राज्य की जनता गरीबी और बेरोजगारी से जूझ रही है। आवश्यक संसाधनों का संकट है। ऐसी स्थिति में सरकारी खजाने की इतनी बड़ी राशि मंदिर में दान ...

देशबन्धु
2017-03-08 22:26:57
क्या हों अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की सीमाएं
क्या हों अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की सीमाएं?

दिल्ली विश्वविद्यालय से संबद्ध रामजस कॉलेज में पिछले दिनों आयोजित होने जा रहे एक सेमिनार का विरोध किया जाना तथा उसके बाद इसी को लेकर छिड़ी स्वतंत...

देशबन्धु
2017-03-05 22:43:04