क्या मीठे की चाहत आपके जीन्स में है?

यह तो जानी-मानी बात है कि कुछ लोगों को मीठा बहुत पसंद होता है...

देशबन्धु
क्या मीठे की चाहत आपके जीन्स में है?
DNA
देशबन्धु

यह तो जानी-मानी बात है कि कुछ लोगों को मीठा बहुत पसंद होता है। इस संदर्भ में किए गए अनुसंधान से शकर के प्रति इस लगाव के तंत्रिका मार्गों के बारे में काफी कुछ पता चल चुका है। ङ्क्षकतु अब ता जा शोध बता रहा है कि हो न हो, शकर की चाहत आपके डीएनए यानी जीन्स में अंकित होती है।

वैज्ञानिकों की एक अंतर्राष्ट्रीय टीम ने डेनमार्क के सा ढे 6 ह जार से ज्यादा व्यक्तियों के जीन्स के आंकड़ों को खंगाला। ये लोग हृदय रोग के एक अध्ययन में शामिल थे। हमारे डीएनए में एक जीन होता है स्नत्रस्न२१ जो कुछ लोगों में थोड़ा परिवॢतत रूप में पाया जाता है।

टीम ने पाया कि जिन लोगों में स्नत्रस्न२१ का परिवॢतत रूप था उनमें शकर की चाहत 20 प्रतिशत ज्यादा थी। स्नत्रस्न२१ नामक यह जीन एक एं जाइम का निर्माण करवाता है जो चूहों और प्रायमेट्स में भोजन का नियमन करता है। नए शोध से तो लगता है कि यही जीन मनुष्यों में भी भोजन की पसंद में कुछ भूमिका निभाता है। यह एं जाइम लीवर में बनता है। अर्थात लीवर हमारी भोजन की पसंद-नापसंद के निर्धारण में शामिल है।

बात को और स्पष्ट करने के लिए कोपनहेगन विश्वविद्यालय के मैथ्यू गिलम के नेतृत्व में शोधकर्ताओं ने ह जारों वालंटियर्स के बारे में पसंदीदा भोजन के आंकड़े जुटाए और इनका सम्बंध खून में कोलेस्ट्रॉल और शकर की मात्रा से जोडऩे की कोशिश की।


आंकड़ों के विश्लेषण से पता चला कि जो वालंटियर्स शकर बहुत अधिक पसंद करते थे उनमें स्नत्रस्न२१का परिवॢतत रूप पाए जाने की संभावना भी अधिक थी। और तो और, यही परिवॢतत जीन व्यक्ति को अन्य समस्यामूलक भोजन के प्रति भी लालायित करता है।

अध्ययन में एक और रोचक बात सामने आई - जिन लोगों में स्नत्रस्न२१ का परिवॢतत रूप पाया गया और शकर के प्रति चाहत भी अधिक देखी गई, उनका वजन उनके डील डौल की तुलना में कम ही था। तकनीकी भाषा में उनका बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) कम था।

यह एक आश्चर्यजनक बात है क्योंकि आम तौर पर माना जाता है कि जो लोग ज्यादा शकर खाते हैं उनमें मोटापे की संभावना भी ज्यादा होती है। इस विषय में आगे शोध कीजरूरत है।

देशबंधु से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.

संबंधित समाचार