गिर में चार माह की बंदी के बाद आज से फिर होंगे सिंह दर्शन

देशभर में एशियाई शेरों के एकमात्र प्राकृतिक निवास गुजरात के गिर वन के तहत आने वाले गिर राष्ट्रीय पार्क सह अभयारण्य...

देशबन्धु
गिर में चार माह की बंदी के बाद आज से फिर होंगे सिंह दर्शन
gir forest
देशबन्धु

सासण गिर/गुजरात। देशभर में एशियाई शेरों के एकमात्र प्राकृतिक निवास गुजरात के गिर वन के तहत आने वाले गिर राष्ट्रीय पार्क सह अभयारण्य, जो खुली जीप में शेरों को देखने वाले लोकप्रिय सिंह दर्शन के लिए मशहूर हैं, को चार माह की सालाना बंदी के बाद पर्यटकों के लिए कल से खोल दिया जाएगा।

गुजरात के तीन जिलों जूनागढ, अमरेली और गिर सोमनाथ के 1412 वर्ग किमी क्षेत्र में फैले इस विशाल जंगल के 110 वर्ग किमी क्षेत्र में स्थित इस राष्ट्रीय पार्क से जुड़े सहायक वन संरक्षक नवल अपरनथी ने आज बताया कि शेर समेत अधिकतर पशु पक्षियों का प्रजनन सत्र होने तथा मानसून के दौरान कच्ची सड़कों के वाहन परिचालन योग्य नहीं होने के कारण इसे हर साल 16 जून से 15 अक्टूबर तक चार माह के लिए बंद रखा जाता है।


इस तरह की बंदी का प्रावधान वन्यप्राणी अधिनियम के तहत भी है। उन्होंने बताया कि कल जंगल में जाने वाले शुरुआती वाहनों का स्वागत किया जाएगा। 

ज्ञातव्य है कि हर पांच साल पर होने वाली शेरों की आधिकारिक गणना के अनुसार मई 2015 की अंतिम गणना के मुताबिक गिर वन में शेरों की संख्या इससे पहले 2010 की गणना के 411 से बढ कर 523 हो गई थी। 

देशबंधु से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.

संबंधित समाचार