आर्थिक विकास के लिए चीन-भारत को अच्छे संंबंध बनाने होंगे: दलाई लामा

मथुरा ! नोबुल पुरस्कार से सम्मानित आध्यात्मिक संत दलाई लामा ने आज कहा कि आर्थिक विकास के लिए चीन और भारत को आपस में अच्छे सम्बन्ध बनाना चाहिए। ...

आर्थिक विकास के लिए चीन-भारत को अच्छे संंबंध बनाने होंगे: दलाई लामा

मथुरा !   नोबुल पुरस्कार से सम्मानित आध्यात्मिक संत दलाई लामा ने आज कहा कि आर्थिक विकास के लिए चीन और भारत को आपस में अच्छे सम्बन्ध बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि दोनो देशों को धैर्य बनाए रखना चाहिए। उनका कहना था कि विश्व की राजनीति में पिछले दो वर्ष में बहुत परिवर्तन हुए हैं तथा भारत एक महान राष्ट्र के रूप में उभरकर निकला है। इन परिवर्तनों के बावजूद विश्व मानवता को समर्पित है न कि राष्ट्राध्यक्षों को समर्पित है। लामा ने कहा कि प्रथम और द्वितीय विश्वयुद्ध में बहुत लोगों की जाने गईं तथा बहुत नुकसान हुआ। मानवता ने आज उससे नसीहत ली है इसीलिए अमेरिका को छोडक़र सभी देश हथियारों की खरीद करने के पहले दस बार सोच रहे हैं। सं आध्यात्मिक संत ने महामंडलेेश्वर शरणानन्द महराज के आश्रम में उनकी गीता मनीषी संत ज्ञानानन्द महराज एवं संस्कृत भाषा के विद्वान श्रीवत्स गोस्वामी की उपस्थिति में पत्रकारों के एक प्रश्न का उत्तर देते हुए कहा कि आपसी तालमेल के लिए विचारों का परिवर्तन जरूरी है तथा विचारों का परिवर्तन शिक्षा से होता है। शिक्षा ऐसी होनी चाहिए जो आध्यात्मिकता को विकसित कर मानव में करूणा का भाव जागृत करे। उन्होंने कहा कि भय, क्रोध और फ्रस्टेशन को कम करने का प्रयास किया जाना चाहिए। उनका कहना था कि मानव मन जब आंतरिक रूप से शांत होगा तभी विश्व शांति संभव है।


देशबंधु से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.

संबंधित समाचार