चंपारण सत्याग्रह शताब्दी पर विशेष  दीपाली रस्तोगी का सत्याग्रह शासन और गांधी
चंपारण सत्याग्रह शताब्दी पर विशेष : दीपाली रस्तोगी का सत्याग्रह, शासन और गांधी

किसानों का शोषण बंद हो। चंपारण सत्याग्रह, इसी सच का आग्रह था। चंपारण सत्याग्रह के सौ साल पूरे होने पर भी क्या किसानों का शोषण रुका है?

देशबन्धु
2017-04-25 05:37:03
गांधीजी का पर्यावरण मंत्र संयम स्वावलंबन और सोनखाद
गांधीजी का पर्यावरण मंत्र :संयम, स्वावलंबन और सोनखाद

कचरा, पर्यावरण का दुश्मन है और स्वच्छता, पर्यावरण की दोस्त। कचरे से बीमारी और बदहाली आती है और स्वच्छता से सेहत और समृद्धि। ये बातें महात्मा गांध...

देशबन्धु
2017-04-25 05:31:08
रामनगर  ऐतिहासिक पर्यटन स्थल
रामनगर : ऐतिहासिक पर्यटन स्थल

यह निश्चित रूप से सर्वमान्य है कि पर्यटन का परंपराओं व संस्कृति से अत्यंत घनिष्ट संबंध है। धर्म, अध्यात्म व इतिहास को तो पर्यटन सम्बद्र्धित करता ...

देशबन्धु
2017-04-22 22:38:52
हिंसक होती महानगरीय संस्कृति
हिंसक होती महानगरीय संस्कृति

हम जितने आधुनिक हो रहे हैं, हमारे नैतिक मूल्य उतने ही गिरते जा रहे हैं। हमारे महानगर इस गिरावट की हदें पार कर रही है । इसकी निष्पत्ति न केवल भयाव...

देशबन्धु
2017-04-22 22:35:45
बच्चे खाली घड़े नहीं होते
बच्चे खाली घड़े नहीं होते

हाल ही में व्हाट््सअप पर एक रूपक के रूप में संदेश प्रसारित हुआ जो कि स्कूली शिक्षा से संबंधित है। जरा गौर फरमाएं-‘थाप लगाने, हाथ रखने तक का अधिका...

देशबन्धु
2017-04-21 05:16:32
पाठ्यपुस्तक की राजनीति
पाठ्यपुस्तक की राजनीति

पाठ्य पुस्तकें भी मानव मस्तिष्क का ही सृजन हैं। एक ऐसे मस्तिष्क का जो अपने देखे रंग और ढंग की अनुकृति को परोसता है और चाहता है कि पाठक भी उसी के ...

देशबन्धु
2017-04-21 05:11:17
बात में लॉजिक है
बात में लॉजिक है

भाइये मिसेज भल्ला, मैं अकेली बैठी इंतजार कर रही थी कि कोई तो आये।’ नीला ने कहा मिसेज भल्ला अपने केशों को झटकते हुए बोलीं-अरे क्या बताऊं ब्यूटी प...

देशबन्धु
2017-04-19 04:12:30
भइया ने पार्टी बदली
भइया ने पार्टी बदली...

भइया ने पार्टी बदल दी...। पूरे शहर में फिर उनके पूरे चुनाव क्षेत्र में फिर पूरे राज्य में और उसी दिन प्राईम टाईम में न्यू़•ा चैनल्स की मेहरबानी स...

प्रभाकर चौबे
2017-04-19 04:06:53
चंपारण सत्याग्रह के सौ साल  अहिंसा और सत्य की लड़ाई
चंपारण सत्याग्रह के सौ साल 'अहिंसा और सत्य की लड़ाई'

चंपारण भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास का खुलासा करता है। यह आंदोलन साम्राज्यवादी उत्पीडऩ के लिए लगाई गई सभी भौतिक ताकतों के विरूद्ध लडऩे के लिए

देशबन्धु
2017-04-17 04:12:48
साहित्य का विश्व शहर कोलकाता
साहित्य का विश्व शहर कोलकाता!

कुछ लोगों का मानना है कि अब मुद्रित साहित्य यानी लिखे हुए शब्दों का अवसान हो रहा है। प्राय: रोज ही नए-नए इलेक्ट्रानिक उपकरणों से प्रसूत सामग्री म...

देशबन्धु
2017-04-17 04:07:47
बलराज साहनी ‘थे’ नहीं  ‘हैं’ और हमेशा रहेंगे
बलराज साहनी ‘थे’ नहीं ‘हैं’ और हमेशा रहेंगे

ऊपर वाले की मर्जी देखिए कि 12 अप्रैल, 1973 के दिन फिल्म ‘गर्म हवा’ की आखरी डबिंग जो बलराज जी ने की उस सीन के डायलॉग जो उन्होंने डब किए इस तरह थे-

देशबन्धु
2017-04-13 05:33:29
मूल्यों में अटकी झुमकी
मूल्यों में अटकी झुमकी

मैं हूं सोने की कान की झुमकी।... खरे सोने और चमकते कीमती पत्थरों की बनी एक बेजान वस्तु...। पर, क्या आप जानते हैं बेजान चीजों की भी अपनी एक कहानी ...

देशबन्धु
2017-04-11 05:23:35
     और रामस्वरूप जी को आखिर मिल गया ठौर
और रामस्वरूप जी को आखिर मिल गया ठौर

आचार्य रामस्वरूप आज जल्दी तैयार हो गये थे। वैसे पूरी तरह तैयारी नहीं हुई थी। अभी बंडी पहनना बाकी है। वे बंडी पहनकर ही घर से बाहर निकलने के लिये ...

देशबन्धु
2017-04-11 05:19:08
दहके अनार
दहके अनार

उफ कितनी गर्मी, ऊपर से इतनी बेतरतीब सडक़ें वृंदा झुंझला गई। सब्जी खरीदने जैसा उबाऊ कार्य उसे सख्त नापसंद था। और आज यह जिम्मेदारी भी उसी पर आ गई।

देशबन्धु
2017-04-11 05:15:34
पेंगुइन के देश में
पेंगुइन के देश में

वर्षों से इच्छा थी कि विचित्र जीव पेंगुइन को बर्फ पर चलते देखूं। जब यह खड़ी रहती है तो पीछे से यह कोई काले ओवरकोट पहने आदमी जैसा लगता है

देशबन्धु
2017-04-09 04:23:15
कहीं खो गई है हमारी खुशी
कहीं खो गई है हमारी खुशी

ताजा ग्लोबल हैप्पीनैस इंडैक्स में 155 देशों की सूची में भारत 122 स्थान पर है । भारत जैसा देश जहाँ की आध्यात्मिक शक्ति के वशीभूत विश्व भर के लोग श...

देशबन्धु
2017-04-09 04:18:08
भारत में भाषा विविधता का संरक्षण
भारत में भाषा विविधता का संरक्षण

भारत दुनिया के उन अनूठे देशों में से एक है जहां भाषाओं में विविधता की विरासत है। भारत के संविधान ने 22 आधिकारिक भाषाओं को मान्यता दी है।

देशबन्धु
2017-04-09 04:15:22
बारबियाना के बच्चों का अध्यापक के नाम पत्र
बारबियाना के बच्चों का अध्यापक के नाम पत्र

बारबियाना समुदाय, इटली में टस्कनी प्रदेश में दूरदराज के क्षेत्र में रहने वाले एक समुदाय का नाम है। 1950 के दशक में डॉन लोरेंजो मिलानी नाम के एक प...

देशबन्धु
2017-04-05 05:27:13
क्या महिलाओं को शांति से जीने का अधिकार नहीं है