आशाराम बापू के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज

आशाराम बापू पर जोधपुर के नाबालिग लड़की के साथ यौन शोषण का आरोप है। ...

Share:

नाबालिग लड़की दर्ज कराया मामलानाबालिग लड़की के साथ यौन शोषण का आरोपनई दिल्ली !  आध्यात्मिक गुरु आसाराम बापू के खिलाफ एक नाबालिग लड़की की शिकायत पर यौन प्रताड़ना की प्राथमिकी दर्ज की गई है। दिल्ली पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी। बापू के एक सहयोगी ने आरोपों से इंकार किया है। पुलिस के अनुसार, नाबालिग लड़की ने मध्य दिल्ली के कमला मार्केट थाने में आसाराम बापू के खिलाफ मंगलवार शाम लिखित शिकायत दी थी। एक पुलिस अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, "हमने शिकायत दर्ज कर ली है। लेकिन लड़की ने बताया कि घटना राजस्थान में हुई इसलिए मामला राजस्थान स्थांतरित किया जाएगा।"शिकायत में कहा गया है कि 15 अगस्त को जोधपुर आश्रम में यौन हमला किया गया था। पीड़िता वहां इलाज के लिए गई थी।अधिकारी ने बताया, "पीड़िता आसाराम बापू द्वारा मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में संचालित एक गुरुकुल में पिछले पांच वर्षो से पढ़ रही है। चूंकि वह अस्वस्थ महसूस कर रही थी इसलिए गुरुकुल के कर्मचारियों ने उसे बापू (आश्रम) के यहां जाने के लिए कहा।"अध्यात्मिक गुरु के प्रवक्ता ने कहा कि यह आसाराम बापू की छवि धूमिल करने का प्रयास है। आसाराम के देश-विदेश में लाखों भक्त हैं।प्रवक्ता सुनील वानखेड़े ने अहमदाबाद से फोन पर आईएएनएस से कहा, "लड़की ने कहा है कि घटना 15 अगस्त को जोधपुर में घटी। लेकिन आसाराम बापू जोधपुर से 11 अगस्त को ही चल चुके थे। तो फिर यह सच कैसे है?"प्रवक्ता ने आगे कहा, "लड़की ने दिल्ली में मामला दर्ज कराया है, क्योंकि दिल्ली वह जगह है जहां पुलिस महिला से जुड़े अपराध से संबंधित मामले में बिना जांच के ही एफआईआर दर्ज करने के लिए बाध्य है।"उन्होंने कहा, "हम लड़की के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे।"पीड़िता उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले की रहने वाली है। वह अपने परिवार के साथ आसाराम बापू के यहां गई थी।पुलिस ने कहा कि आसाराम इलाज के बहाने लड़की को एक एकांत कक्ष में ले गए और यौन प्रताड़ना दी। इस घटना से आहत लड़की ने पहले तो चुप्पी साध ली, लेकिन कुछ दिनों बाद उसने इसकी जानकारी दी।पुलिस ने बताया कि इस बात से नाराज परिवार के सदस्यों ने आसाराम से भिड़ने की ठानी और मंगलवार को दिल्ली के रामलीला मैदान पहुंचे जहां आसाराम लोगों को उपदेश देने वाले थे। लेकिन परिवार को उनसे मिलने की इजाजत नहीं दी गई और उन्हें वहां से चले जाने के लिए कहा गया। अंतत: परिवार ने पुलिस से शिकायत करने का फैसला लिया।आसाराम बापू इससे पहले उस वक्त खबरों में आए थे जब गुजरात पुलिस ने उनके और दो अन्य के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया था। उन पर गुजरात और मध्य प्रदेश में अवैध रूप से जमीन हड़पने का भी आरोप है।दिल्ली में 16 दिसंबर 2012 के सामूहिक दुष्कर्म मामले के बाद भी आसाराम बापू ने एक विवादास्पद बयान देकर लोगों की नाराजगी मोल ली थी। उन्होंने कहा था कि पीड़िता हमलावरों को भाई कहकर उनके चंगुल से बच सकती थी।

देशबंधु से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
Related Stories
author

author

क्या महिलाओं को शांति से जीने का अधिकार नहीं है