विश्व बैंक ने भारत का विकास अनुमान घटाया

वाशिंगटन ! विश्व बैंक ने वर्ष 2016 तथा वर्ष 2017 के लिए भारत का विकास अनुमान घटा दिया है, विश्व बैंक ने अपनी ‘ग्लोबल इकोनामिक प्रोस्पेक्ट रिपोर्ट’ में कहा है कि वर्ष 2016 में भारत की विकास दर ...

विश्व बैंक ने भारत का विकास अनुमान घटाया
हाइलाइट्स

वाशिंगटन !  विश्व बैंक ने वर्ष 2016 तथा वर्ष 2017 के लिए भारत का विकास अनुमान घटा दिया है, विश्व बैंक ने अपनी ‘ग्लोबल इकोनामिक प्रोस्पेक्ट रिपोर्ट’ में कहा है कि वर्ष 2016 में भारत की विकास दर सात प्रतिशत रहने का अनुमान है।

वाशिंगटन !  विश्व बैंक ने वर्ष 2016 तथा वर्ष 2017 के लिए भारत का विकास अनुमान घटा दिया है, विश्व बैंक ने अपनी ‘ग्लोबल इकोनामिक प्रोस्पेक्ट रिपोर्ट’ में कहा है कि वर्ष 2016 में भारत की विकास दर सात प्रतिशत रहने का अनुमान है। पिछले साल जून में जारी पूर्वानुमान में उसने इसके 7.6 प्रतिशत रहने की बात कही थी, रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकार द्वारा पाँच सौ रुपये तथा एक हजार रुपये पुराने नोटबंद करना भी इसमें एक कारक रहा है, हालाँकि वर्तमान वैश्विक परिस्थितियों में यह भी मजबूत विकास दर है। उसने वर्ष 2017 के लिए भी भारत का विकास अनुमान 7.7 प्रतिशत से घटाकर 7.6 प्रतिशत कर दिया है। वर्ष 2018 और 2019 के लिए उसने भारतीय अर्थव्यवस्था के 7.8 प्रतिशत की दर से बढ़ने का अनुमान जाहिर किया है। विश्व बैंक ने कहा है कि चीन की विकास दर बीते साल 6.7 प्रतिशत रहने का अनुमान है जो इस साल घटकर 6.5 प्रतिशत रह जायेगी। वर्ष 2018 और 2019 में उसकी विकास दर 6.3 प्रतिशत रहने की बात कही गयी है। भारत के बारे में कहा गया है कि सरकार के सुधार प्रयासों से घरेलू आपूर्ति की बाधाएँ दूर होंगी जिससे वर्ष 2018 में विकास दर बढ़कर 7.8 प्रतिशत रहेगी। 


देशबंधु से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.

संबंधित समाचार

क्या महिलाओं को शांति से जीने का अधिकार नहीं है