फिर सीवर में दो लोगों की मौत, फायरकर्मी भी जहरीली गैस की चपेट में आया

राजधानी में सीवर सफाई कर्मचारियों के लिए मौत के कुएं साबित हो रहे हैं और तमाम सरकारी दावों के उलट हर दिन नए हादसे हो रहे हैं...

एजेंसी
फिर सीवर में दो लोगों की मौत, फायरकर्मी भी जहरीली गैस की चपेट में आया
The death

नई दिल्ली। राजधानी में सीवर सफाई कर्मचारियों के लिए मौत के कुएं साबित हो रहे हैं और तमाम सरकारी दावों के उलट हर दिन नए हादसे हो रहे हैं। सफाई के दौरान होने वाली मौतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है और शनिवार को आनंद विहार इलाके में सीवर की सफाई के दौरान भी दो कर्मचारियों की मौत का मामला सामने आया है। इतना ही नहीं सफाई कर्मियों के बचाव में आए दमकमल कर्मी भी घायल हो गए। मृतक का नाम जहांगीर बताया गया है और दूसरा मृतक उसका बेटा बताया गया है

प्राप्त जानकारी के मुताबिक शनिवार की दोपहर करीब एक बजे पूर्वी दिल्ली के आनंद विहार इलाके के एक मॉल फन सिटी के सीवर की सफाई के लिए तीन सफाई कर्मचारी सीवर में उतरे थे। सीवर के अंदर जहरीली गैस की चपेट में आने से पिता और पुत्र यूसुफ (50) व इजाज (22) की मौत हो गई। इस घटना की जानकारी फायर ब्रिगेड विभाग को दी गई। फायर ब्रिगेड के कर्मचारी सीवर में उतरे और दोनों शवों को बाहर निकालकर लाए और एक व्यक्ति को बेहोशी की हालत में निकाला गया। बताया जाता है कि तीसरा सफाईकर्मी जहांगीर (24) है।

इस राहत अभियान में फायर ब्रिगेड के हेडकांस्टेबल महिपाल भी जहरीली गैस के शिकार हो गए। महिपाल को भी परेशानी होने पर अब अस्पताल में दाखिल करवाया गया है। महिपाल व जहांगीर अभी भी उपचाराधीन हैं। इसके बाद ही मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच शुरू कर दी है तो वहीं मामला दर्ज कर लिया गया है।


बता दें कि हाल ही में संपन्न हुई विधानसभा के मानसून सत्र में भी लाजपत नगर में मारे गए तीन सीवर सफाई करने वाले मजदूरों की मौत का मामला उछला था और तब उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने जोर देकर कहा था कि कोई भी सीवर हाथ से साफ नहीं होगा। सीवर की सफाई मशीनों से ही करवाई जाएगी। इसके बावजूद यहां मजदूरों से सीवर सफाई करवाने का मामला सामने आया है।

 

देशबंधु से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.

संबंधित समाचार