जाति प्रमाण पत्र के लिए भटक रहे छात्र

स्कूली छात्रों को जाति एवं निवास प्रमाण पत्र बनवाने के लिये परेशान न होना पडे इसके लिये शासन ने छात्र-छात्राओं को स्कूलों के माध्यम से जाति एवं निवास प्रमाण पत्र बनाने की योजना बनाई है...

जाति प्रमाण पत्र के लिए भटक रहे छात्र
caste certificate
हाइलाइट्स
  •   तहसील कार्यालय की उदासीनता से बढ़ी परेशानी

पेण्ड्रा।  स्कूली छात्रों को जाति एवं निवास प्रमाण पत्र बनवाने के लिये परेशान न होना पडे इसके लिये शासन ने छात्र-छात्राओं को स्कूलों के माध्यम से जाति एवं निवास प्रमाण पत्र बनाने की योजना बनाई है परंतु स्कूलों के माध्यम से भेजे गए जाति एवं निवास के प्रकरण पर तहसील कार्यालयों की उदासीनता के कारण छात्र-छात्राओं के जाति प्रमाण पत्र नही बन पा रहे है इसके कारण छात्र-छात्राएं परेशान है। सवाल लाजमी है कि आखिर छात्राओं को जाति प्रमाण पत्र कब मिलेगा? 

पेण्ड्रा एवं मरवाही तहसील के जाति प्रमाण पत्र के अनेक प्रकरण लंबित है जिसके कारण छात्र-छात्राएं परेशान है जबकि शासन ने छात्र-छात्राओं को परेशानी से बचाने के लिये जाति निवास प्रमाण पत्र बनाने के लिये नियम का सरलीकरण करते हुए स्कूलों के माध्यम से जाति प्रमाण पत्र तहसील कार्यालय भेजने का प्रावधान रखा है परंतु छात्र-छात्राओं के द्वारा नियमानुसार आवेदन जमा करने के बाद भी जाति प्रमाण पत्र मरवाही एवं पेण्ड्रा द्वारा जारी नही किया गया है।

मरवाही तहसील के ग्राम रूमगा में रहने वाली गनेशिया पिता सहासिंह, ममता पिता प्रताप सिंह, भगवती पिता दशरथ, कोलबीरा की गीता पिता सूरजभान, पथर्रा निवासी आरती पिता तुलसी प्रसाद, डोंगरिया निवासी मायावती पिता पंचम, सेखवा निवासी अन्नू पिता रामसिंह, सावित्री पिता रामभरोसे के जाति प्रमाण पत्र के प्रकरण इनके अध्ययन शाला कन्या हायर सेकेण्डरी स्कूल सकोला के माध्यम से तहसील कार्यालय मरवाही भेजे गए थे परंतु महीनो बाद भी तहसील कार्यालय मरवाही से इनके जाति प्रमाण पत्र बनाकर नही दिये गए है जिससे छात्राएं परेशान है। इसी तरह तहसील कार्यालय मरवाही में ही श्यामवती पिता रामभगत जाति गोंड निवासी पथर्रा, श्वेता पिता नरेश कुमार जाति भैना निवासी रूमगा का जाति प्रमाण पत्र तहसील कार्यालय मरवाही में महीनो से लंबित है। 


इसी तरह तहसील कार्यालय पेण्ड्रा में साधना प्रधान पिता महेश प्रधान जाति गोंड निवासी देवरीखुर्द, अनिता पिता रामसिंह पेंद्रो जाति गोंड निवासी देवरीखुर्द, दिनेश्वरी पिता मालचंद जाति गोंड निवासी विशेसरा, भुवनेश्वरी पिता ईश्वर जाति गोंड निवासी कोटमीकला, तुलसी पुरी पिता तीरथ निवासी देवरीकला का जाति प्रमाण पत्र महीनो से लंबित पडा है परंतु तहसील कार्यालय पेण्ड्रा से इन छात्राओं का जाति प्रमाण पत्र जारी नही हो सका है।

इनमे से कुछ छात्राओं ने तहसील कार्यालय में व्यक्तिगत आवेदन जारी करने का आवेदन दिया है। छात्रायें जाति प्रमाण पत्र हेतु कई बार तहसील कार्यालय का भी चक्कर काट चुकी है परंतु उन्हें बन जायेगा का रटा रटाया जवाब दे दिया जाता है। ऐसे में शासन की योजना जिसमें जाति प्रमाण पत्र जारी करने का सरलीकरण किया जाना है पर सवाल उठना लाजमी है आखिर छात्राओं को जाति प्रमाण पत्र कब मिलेगा ? 

देशबंधु से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.

संबंधित समाचार