रांची टेस्ट : भोजनकाल तक भारत ने 2 विकेट खोकर193 रन बनाए

भारतीय क्रिकेट टीम ने झारखंड राज्य क्रिकेट संघ स्टेडियम में जारी तीसरे टेस्ट के तीसरे दिन शनिवार को आस्ट्रेलिया के खिलाफ भोजनकाल तक अपनी पहली पारी में दो विकेट खोकर 193 रन बना लिए हैं...

रांची टेस्ट : भोजनकाल तक भारत ने 2 विकेट खोकर193 रन बनाए
Rachi Test

रांची।  मुरली विजय (82) की अर्धशतकीय पारी के दम पर भारतीय क्रिकेट टीम ने झारखंड राज्य क्रिकेट संघ स्टेडियम में जारी तीसरे टेस्ट के तीसरे दिन शनिवार को आस्ट्रेलिया के खिलाफ भोजनकाल तक अपनी पहली पारी में दो विकेट खोकर 193 रन बना लिए हैं।

आस्ट्रेलिया की पहली पारी के स्कोर 451 के मुकाबले भारतीय टीम अब भी 258 रन पीछे है। चेतेश्वर पुजारा 40 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद हैं। अपने पहले दिन के स्कोर एक विकेट पर 120 रनों से आगे खेलने उतरी भारतीय टीम ने शनिवार को पहले सत्र में एक विकेट खोकर अपने खाते में 73 रन जोड़ लिए हैं। 

भारत ने तीसरे दिन पहले सत्र में विजय के रूप में एकमात्र विकेट गंवाया। अच्छी बल्लेबाजी कर रहे विजय ने स्टीव ओकीफ की गेंद पर आगे बढ़कर मारने का प्रयास किया, लेकिन चूक गए और मैथ्यू वेड ने उन्हें स्टम्पिंग करने में कोई गलती नहीं की।

183 गेंदों पर 10 चौके और एक छक्का लगाने वाले विजय ने पुजारा के साथ दूसरे विकेट के लिए 102 रनों शानदार शतकीय साझेदारी की। विजय 193 के कुल योग पर आउट हुए और इसके साथ ही भोजनकाल की घोषणा कर दी गई। 


अपने करियर का 50वां टेस्ट मैच खेल रहे विजय ने 50वें ओवर की पहली गेंद पर अपना 15वां अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने आस्ट्रेलिया के खिलाफ अब तक खेले गए टेस्ट मैचों में 10 अर्धशतक लगाए हैं। 

विजय और पुजारा की जोड़ी की 2016-17 सत्र में छठी शतकीय साझेदारी है। वे ऐसा करने वाली दूसरी जोड़ी है। इससे पहले, एक सत्र में सबसे ज्यादा शतकीय साझेदारी करने का रिकॉर्ड हेडन और पोंटिंग के नाम है, जिन्होंने 2005-06 सत्र में साझेदारी कर सबसे अधिक सात शतक लगाए। 

इसके अलावा, राहुल और पुजारा की जोड़ी एक सत्र में भारत के लिए सबसे अधिक रनों की साझेदारी करने वाली दूसरी जोड़ी है। उन्होंने 954 रन बनाए हैं। इस सूची में पहला नाम राहुल द्रविड़ और गौतम गंभीर की जोड़ी का है। 

राहुल और गौतम ने 2008-09 सत्र में भारत के लिए 14 पारियों में 961 रनों की साझेदारी की थी।  आस्ट्रेलिया की ओर से पेट कुमिंस और कीफ ने एक-एक विकेट लिए। 

देशबंधु से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.

संबंधित समाचार

क्या महिलाओं को शांति से जीने का अधिकार नहीं है