राज्यसभा ने  प्यारी मोहन पात्रा को  श्रद्धांजलि दी

राज्यसभा ने आज अपने पूर्व सदस्य प्यारी मोहन पात्रा को भावभीनी श्रद्धांजलि दी...

राज्यसभा ने  प्यारी मोहन पात्रा को  श्रद्धांजलि दी
Rajyasabha

नयी दिल्ली।  राज्यसभा ने आज अपने पूर्व सदस्य प्यारी मोहन पात्रा को भावभीनी श्रद्धांजलि दी। महापात्रा का निधन कल देर शाम मुंबई के एक अस्पताल में 77 वर्ष की आयु में हो गया।

सभापति हामिद अंसारी ने सुबह सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद सदन को इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि श्री महापात्रा के निधन से देश ने एक योग्य सांसद, समाज सेवक और प्रशासक खो दिया है। सदन ने श्री महापात्रा की याद में मौन भी रखा।


 अंसारी ने बताया कि श्री महापात्रा का जन्म 1940 को ओडिशा के कटक के अंगुल में हुआ। उनकी शिक्षा दीक्षा कटक, इलाहाबाद और लंदन में हुई। लगभग 40 वर्ष के सार्वजनिक जीवन में उन्होंने बच्चों, महिलाओं और आदिवासी समाज के कल्याण के लिए अथक प्रयास किए।

वह वर्ष 2004 से 2010 और वर्ष 2010 से 2016 तक राज्यसभा के सदस्य थे। वह संसद की विभिन्न समितियों के सदस्य भी रहे। श्री महापात्रा को ‘ओडिशा का चाणक्य’ भी कहा जाता है। उन्होंने बीजू जनता दल के गठन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। फिलहाल वह ओडिशा जन मोर्चा से जुडे थे।
 

देशबंधु से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.

संबंधित समाचार

क्या महिलाओं को शांति से जीने का अधिकार नहीं है