ग्रामीण क्षेत्रों में धड़ल्ले से बिक रही कच्ची शराब

 रतनपुर के समीपस्थ ग्रामीण अंचल में शराब पर प्रतिबंध के बावजूद कच्ची शराब जोरों से बेची  जा रही है...

ग्रामीण क्षेत्रों में धड़ल्ले से बिक रही कच्ची शराब
liquor
हाइलाइट्स
  •   विभाग की कार्यशैली पर उठ रहा सवाल
  •   शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं 

रतनपुर।  रतनपुर के समीपस्थ ग्रामीण अंचल में शराब पर प्रतिबंध के बावजूद कच्ची शराब जोरों से बेची  जा रही है राज्य सरकार के अवैध शराब कोचियों पर प्रतिबंध लगाने के फैसले को धता बताते हुए कच्ची शराब माफिया दे रहे हैं शराब बिक्री को अंजाम जल्द ही प्रतिबंध नहीं लगाने एवं कार्यवाही नहीं होने पर आम जनता सड़क पर आकर आंदोलन की बात कह रहे हैं वही पिछले दिनों ग्रामीण अंचल में कच्ची शराब की बिक्री को लेकर ग्राम सेमरा एवं बिरगहनी के ग्रामीणों ने रतनपुर थाना में आवेदन देकर अवैध शराब माफिया की बिक्री पर रोक लगाते हुए सख्त कार्रवाई करने की मांग की है ।

गुरुवार को ग्राम सेमरा के सरपँच  एवं गांव के ग्रामीण और बिरगहनी  के ग्रामीणों ने रतनपुर थाना पहुंचकर अवैध शराब की बिक्री रोकने के लिए ज्ञापन दिया और आवेदन के माध्यम से कहा कि हमारे ग्राम एवं आसपास के ग्रामों में अवैध महुआ शराब गली गली एवं चौक चौराहों पर धड़ल्ले से बिक रहा है ग्रामीणों का कहना है बिक्री  करता को पंचायत के माध्यम से अवैध महुआ शराब बेचने के लिए मना करने पर भी बिक्री करता के द्वारा गाली गलौज किया जाता है इस अवैध शराब बिक्री के कारण गांव में आए दिन लड़ाई झगड़ा एवं गाली गलौज होते रहता है।

 जिसका दुष्परिणाम आमजन पर पड़ रहा है अवैध शराब बिक्री होने से एवं हुल्लड़बाजी होने से महिलाओं एवं बच्चों का घर से निकलना मुश्किल हो रहा है ग्राम सेमरा निवासीअवैध शराब विक्रेता शरद साहू  बलराम साहू  गजानन्द साहू के द्वारा लगातार सुबह शाम अवैध रूप से महुआ का शराब दादागिरी के साथ बेचा जा रहा है जिस कारण गांव का शांति भंग हो रहा है ग्रामीणों का कहना है कि इस अवैध शराब बिक्री के कारण कभी भी बड़ी घटना गांव में घट सकती है इस वजह से हम ग्रामवासी ग्रामपंचायत सेमरा व बिरगहनी के ग्रामीणों ने अवैध महुआ शराब बिक्री करता पर तत्काल कार्रवाई करने की मांग की है। 

उग्र आंदोलन की बात की जा रही है 

ग्राम सेमरा एवं बिरगहनी  के ग्रामीणों ने आरोप लगाया है  कि कच्ची शराब से कई मौतों के बाद भी प्रशासन नहीं चेत रहा है क्षेत्र में लंबे समय से अवैध शराब का कारोबार धड़ल्ले से चल रहा है।  महिला समूहों के द्वारा कई बार अवैध शराब को बंद कराए जाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर चुके हैं लेकिन आज तक प्रशासन ने कोई कदम नहीं उठाया है गुरुवार को क्षेत्र के करीब एक दर्जन गांवों के लोगों ने रतनपुर थाना में आवेदन दिया है। 

ग्रामीणों का कहना है कि क्षेत्र में अवैध ढंग से बनने वाली कच्ची शराब में कई लोगों की मौत हो चुकी है शराब बनाने वाले खुलेआम क्षेत्र में भट्टी चला रहे हैं लेकिन शिकायत के बाद भी प्रशासन मौन है वही ग्रामीणों का कहना है कि  प्रसासन इन पर शीघ्र ठोस कदम नहीं उठाता है तो क्षेत्र के लोग उग्र आंदोलन को बाध्य होंगे। वही पुलिस का कहना है कि शिकायत मिली है जांच कर कार्रवाई कि जायेगी । 

ग्रामीण अंचल में पाव पसारता जा रहा है कच्ची अवैध शराब 


धार्मिक नगरी रतनपुर में जहां एक तरफ अवैध शराब बेचने वाले कोचियों पर स्थानीय प्रशासन ने लगभग लगाम लगाया है तो वहीं दूसरी तरफ कच्ची अवैध शराब बिक्री में बाढ़ सी आ गई है नगर के  जोगी अमराई , कोरबा भावर ,जूना शहर , रानी पारा , सांधी  पारा   सहित ग्रामीण अंचल में लालपुर , पोड़ी , खैरा ,  चपोरा  , बिरगहनी ,बांसाझाल , नवागांव ,  मोहदा बछाली कर्रा जैसे अन्य  गांव में कच्ची अवैध शराब की बिक्री की जा रही है। 

शिकायत पर भी कार्रवाई नहीं

सेमरा  और बिरगहनी में अवैध कच्ची शराब बिक्री लगातार बढ़ती जा रही है जिसकी पहले भी रतनपुर थाने में शिकायत की गई थी लेकिन कोई कार्यवाही नहीं की गई है जिसके कारण अवैध शराब बिक्री से पूरा गांव का माहौल खराब हो रहा है इस वजह से दोबारा कार्रवाई करने की शिकायत की गई है शिकायत के बाद भी अभी तक कार्रवाई नहीं की गई है। 

पूरा अंचल नशे के आगोश में

पूरे ग्रामीण अंचल में अवैध शराब की बिक्री की जा रही है युवा वर्ग नशे में चूर हो रहे हैं शराब बिक्री रोकने शिकायत की जाती है लेकिन उन पर कोई कार्यवाही नहीं होती है। 

देशबंधु से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.

संबंधित समाचार