भ्रष्टाचार मामले में निगम के पार्षदों को नोटिस

 पिछले साल नगर पालिक निगम में निर्माण कार्य, खरीदी के साथ-साथ कर्मचारियों को नियमित किए जाने के मामले में जांच और तेज हो गई है। ...

भ्रष्टाचार मामले में निगम के पार्षदों को नोटिस
corruption case

रायगढ़ ।  पिछले साल नगर पालिक निगम में निर्माण कार्य, खरीदी के साथ-साथ कर्मचारियों को नियमित किए जाने के मामले में जांच और तेज हो गई है।  सिटी कोतवाली पुलिस ने अब शिकायतकर्ता पार्षदों को अपना बयान दर्ज कराने के लिए नोटिस के जरिए तलब किया है। इससे पहले पुलिस ने निगम के पूर्व आयुक्त प्रमोद शुक्ला सहित आधा दर्जन निगम के कर्मचारियों के खिलाफ अपराध कायम किया था

 इसके बाद मामले की जांच जारी थी।अब पुलिस ने सीधे उस शिकायत पर बयान लेने के लिए पार्षदों को बुलाया है। ताकि उनके द्वारा किए गए शिकायत के तथ्यों से पुलिस अवगत हो सके। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार रायगढ़ नगर निगम के 8 पार्षदों को रायगढ़ सिटी कोतवाली पुलिस ने नोटिस देकर अपना बयान दर्ज कराने को कहा है और यह बयान आज शाम तक दर्ज होना है।


पार्षदों को नोटिस जारी होनें के मामले में नगर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पिछले दिनों निगम के 6 पार्षदों ने निर्माण कार्य तथा खरीदी के साथ-साथ अन्य कार्यो में भ्रष्टाचार तथा कमीशनखोरी संबंधी शिकायत की थी और इस शिकायत के बाद निगम के पूर्व आयुक्त प्रमोद शुक्ला सहित आधा दर्जन से भी अधिक अन्य कर्मचारियों के उपर अलग-अलग धाराओं के तहत मामला दर्ज किया हुआ है और इसी मामले में जांच में तेजी लाने के लिए पुलिस ने शिकायत करने वाले पार्षदों को तलब करते हुए उनके पास मौजूद सबूतों को मांगा है।

इससे जांच में लाया जा सके। नगर पुलिस अधीक्षक ने यह भी बताया कि पार्षदों ने लिखित शिकायत के जरिये भ्रष्टाचार संबंधी मामले को सामने लाया था और इसीलिये उनके बयान लेने के लिये नोटिस जारी किया गया है।  

देशबंधु से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.

संबंधित समाचार

क्या महिलाओं को शांति से जीने का अधिकार नहीं है