फर्जी शस्त्र लाइसेन्सों पर हथियार खरीदने वाला आरोपी गिरफ्तार

यूपीएटीएस एवं बिहार पुलिस की एसटीएफ की संयुक्त टीम ने आज फर्जी शस्त्र लाईसेन्सों के आधार पर हथियार खरीदने वाले गिरोह के सक्रिय सदस्य तथा वाछित आरोपी उपेन्द्र को पोलो मैदान, मुगेंर बिहार से गिरफ्तार...

एजेंसी
फर्जी शस्त्र लाइसेन्सों पर हथियार खरीदने वाला आरोपी गिरफ्तार
Arrested

लखनऊ। उत्तर प्रदेश आतंक निरोधी दस्ते (यूपीएटीएस) एवं बिहार पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) की संयुक्त टीम ने आज फर्जी शस्त्र लाईसेन्सों के आधार पर हथियार खरीदने वाले गिरोह के सक्रिय सदस्य तथा वाछित आरोपी उपेन्द्र सिह को पोलो मैदान, मुगेंर बिहार से गिरफ्तार कर लिया ।

यूपीएटीएस के पुलिस महानिरीक्षक असीम अरुण ने यहां बताया कि उपेन्द्र के खिलाफ एटीएस के लखनऊ थाने में फर्जी शस्त्र लाइसेंसों के आधार पर हथियार खरीदने के सिलसिले में मामला दर्ज था और यह बदमाश वांछित था । उन्होंने बताया कि यूपीएटीएस की कानपुर यूनिट को विभिन्न स्रोतों से सूचना प्राप्त हो रही थी कि कानपुर नगर के शस्त्र विक्रेता द्वारा शस्त्र लाइसेन्स जारी करने की प्रक्रिया से जुड़े हुए विभिन्न व्यक्तियों के साथ मिलकर आपराधिक षडयंत्र कर बिहार राज्य के कूटरचित शस्त्र लाइसेंसों पर अवैध ढंग से अनेक शस्त्र विक्रय किये गये है। उन्होंने बताया कि सत्यता पाये जाने पर इस संबंध में इसी साल 24 मई को मुकदमा उपरोक्त थाना एटीएस उत्तर प्रदेश, लखनऊ में दर्ज़ कराया गया था |


उन्होंने बताया कि इस प्रकरण में गत 25 जुलाई को एटीएस कानपुर यूनिट ने मुकदमे से संबन्धित आरोपी खन्ना आर्मरी के मालिक विजय खन्ना, ए के नियोगी एंड कंपनी के मालिक अमरजीत नियोगी , पूर्वाञ्चल गन हाउस के मालिक जैनुल आब्दीन और जय जवान आर्म्स डीलर के प्रबंधक राजीव शुक्ला को गिरफ्तार किया था । बिहार राज्य के कूटरचित शस्त्र लाइसेन्स और अन्य अभिलेखों की सहायता से षड्यंत्र कर अवैध तरीके से शस्त्रों को मुंगेर निवासी राजकिशोर राय्, उपेंद्र सिंह और उसके अन्य साथियों को विक्रय किया गया था। जिसमें उपेन्द्र वांछित चल रहा था ।

देशबंधु से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.

संबंधित समाचार