मुम्बई, दिल्ली के बाद इंदौर में सबसे ज्यादा अंगदान

मध्य प्रदेश की व्यापारिक नगरी इंदौर देश का तीसरा ऐसा शहर बन गया है, जहां बीते दो वर्षो में अंगदान में बढ़ोत्तरी हुई है...

एजेंसी
मुम्बई, दिल्ली के बाद इंदौर में सबसे ज्यादा अंगदान
Angadan

इंदौर| मध्य प्रदेश की व्यापारिक नगरी इंदौर देश का तीसरा ऐसा शहर बन गया है, जहां बीते दो वर्षो में अंगदान में बढ़ोत्तरी हुई है। सोसाइटी फार आर्गनडोनेशन की संभागायुक्त संजय दुबे की उपस्थिति में रविवार को हुई संभागीय कार्यशाला में बताया गया कि मुम्बई और नई दिल्ली के बाद इंदौर देश का तीसरा शहर है, जहां पर सर्वाधिक अंगदान हुआ है। पिछले दो साल में इंदौर के 26 लोगों ने अंगदान किया है जिससे 80 से अधिक लोगों की जान बची है। 

इसी वर्ष नवम्बर से इंदौर के एमवाय अस्पताल में बोनमैरो ट्रांसप्लान्ट की प्रक्रिया शुरू होगी। दान में मिलने वाला शरीर यहां पर चिकित्सा महाविद्यालय के छात्रों के अध्ययन में काम आएगा।

कार्यशाला में बताया गया कि भारत में हर वर्ष दो लाख किडनी की आवश्यकता रहती है लेकिन मात्र 25 प्रतिशत ही मिल पाती है। अंगदान के क्षेत्र में सबसे अच्छा काम स्पेन में चल रहा है।

कार्यशाला में संभागायुक्त दुबे ने बताया कि इंदौर में अंगदान के क्षेत्र में पूरी पारदर्शिता बरती जा रही है। अंगदान करने वाले और दान लेने वाले की आनलाइन पंजीयन की व्यवस्था है। पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर अंगदान दिए जाने की व्यवस्था है। अंगदाता परिवार की सहमति के बाद मृत व्यक्ति का 24 घंटे में पोस्टमार्टम किया जाता है। उस समय सरकारी डाक्टर मौजूद रहता है। अंगदाता परिवार के दो सदस्यों को आजीवन स्वास्थ्य बीमा का लाभ दिया जाता है। इसके साथ परिवार के दो सदस्यों का आजीवन मुफ्त इलाज होता है।


दान किए गए अंगों को एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल या हवाई अड्डे तक ले जाने के लिए ग्रीन कॉरीडोर बनाया जाता है, इसका आशय है कि उस दौरान संबंधित सड़क पर एंबुलेंस के अलावा अन्य सभी वाहनों का परिवहन बंद रहता है। पुलिस महानिदेशक अजय कुमार शर्मा ने बताया कि पिछले दो वर्ष में इंदौर में 26 बार ग्रीन करीडोर बनाया गया जिसमें इंदौर ट्रफिक पुलिस की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

कार्यशाला में स्त्री रोग विशेषज्ञ डा़ रचना दुबे ने बताया कि कोई भी व्यक्ति जिसे कैंसर, डायबिटिज जैसी घातक बीमारी नहीं है, वह अंगदान कर सकता है। अभी पिछले माह केरल में एक तीन वर्षीय बच्ची का अंगदान हुआ। अंगदान से किडनी, लीवर, त्वचा, छोटी आंत पुन: काम में ली जाती है। भारत में किडनी की सर्वाधिक मांग है। 

देशबंधु से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.

संबंधित समाचार