दक्षिण अफ्रीकी जमीन पर भारतीय टीम ने फिर टेके घुटने

 भारतीय बल्लेबाज एक बार फिर दक्षिण अफ्रीकी जमीन पर विफल साबित हुए। पदार्पण करने वाले लुंगी नगिडी की अगुआई में मेजबान टीम के गेंदबाजों ने उन्हें घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया और दक्षिण अफ्रीका ने ...

एजेंसी
दक्षिण अफ्रीकी जमीन पर भारतीय टीम ने फिर टेके घुटने
south african cricket team

सेंचुरियन।  भारतीय बल्लेबाज एक बार फिर दक्षिण अफ्रीकी जमीन पर विफल साबित हुए। पदार्पण करने वाले लुंगी नगिडी की अगुआई में मेजबान टीम के गेंदबाजों ने उन्हें घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया और दक्षिण अफ्रीका ने सुपरस्पोर्ट पार्क मैदान पर खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में भारत को 135 रनों से शिकस्त दे दी। इसी के साथ दक्षिण अफ्रीका ने तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त हासिल कर ली है। केपटाउन में खेले गए पहले टेस्ट मैच में दक्षिण अफ्रीका ने भारत को 73 रनों से हराया था। 

दक्षिण अफ्रीका ने भारत के सामने चौथी पारी में 287 रनों का लक्ष्य रखा था। भारतीय टीम इस लक्ष्य को हासिल नहीं कर पाई और 50.2 ओवरों में ही 151 रनों पर ही ढेर हो गई। उसके सिर्फ चार बल्लेबाज ही दहाई के आंकड़े को छू सके। रोहित शर्मा ने सबसे ज्यादा 47 रन बनाए। मोहम्मद शमी ने 28, चेतेश्वर पुजारा और पार्थिव पटेल ने 19-19 रनों का योगदान दिया। नगिडी ने भारत के छह बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया। कागिसो रबादा ने तीन सफलताएं हासिल कीं। एक बल्लेबाज रन आउट हुआ। 

भारत ने मैच के चौथे दिन (मंगलवार को) दक्षिण अफ्रीका को 258 रनों पर ऑल आउट कर दिया था। दूसरी पारी में अब्राहम डिविलियर्स ने 80, डीन एल्गर ने 61 और कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने 48 रन बनाए थे। भारत की तरफ से शमी ने चार विकेट लिए थे। जसप्रीत बुमराह ने तीन, ईशांत शर्मा ने दो और रविचंद्रन अश्विन ने एक विकेट लिया। 

मेजबानों की जमीन पर चुनौतीपूर्ण लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम को चौथे दिन ही तीन झटके लग गए। इसमें सबसे बड़ा नाम पहली पारी में 153 रन बनाने वाले कप्तान विराट कोहली का था। भारत ने चौथे दिन का अंत 35 रनों पर तीन विकेट के नुकसान पर किया था। कोहली ने दूसरी पारी में सिर्फ पांच रन बनाए। उन्हें नगिडी ने पगबाधा आउट किया था। कोहली के अलावा मुरली विजय (9) और लोकेश राहुल (4) भी पवेलियन लौट चुके थे। 

हार तय नजर आ रही थी और पांचवें दिन हुआ भी ऐसा ही। मेहमान टीम ने दिन के पहले सत्र में ही अपने बाकी के सात विकेट खो दिए और मैच हार गई। दिन का पहला झटका उसे पुजारा के रूप में लगा जो दूसरी पारी में भी रन आउट हुए। पुजारा एक टेस्ट मैच की दोनों पारियों में रन आउट होने वाले भारत के पहले बल्लेबाज बन गए हैं। वह पहली पारी में भी रन आउट हुए थे। पुजारा का विकेट 49 के कुल स्कोर पर गिरा। पार्थिव के संघर्ष को रबादा ने 66 के कुल स्कोर पर खत्म किया। 


यहां से लगातार विकेट गिरते ही रहे। हार्दिक पांड्या (6) को नगिडी ने विकेट के पीछे क्विंटन डी कॉक के हाथों कैच कराया। पांड्या का विकेट 83 रन पर गिरा। चार रन बाद नगिडी ने अश्विन (3) को भी डी कॉक के हाथों कैच कराया। 

रोहित हालांकि एक छोर पर खड़े हुए थे। शमी ने उनका साथ दिया और आठवें विकेट के लिए 54 रनों की साझेदारी की। इस जोड़ी की कोशिश भारत को मुश्किल हालात से बाहर निकालने की थी, जो अंतत: रोहित के आउट होने पर असफल साबित हुई। रबादा ने 141 के कुल स्कोर पर रोहित को डिविलियर्स के हाथों कैच करा उन्हें अर्धशतक पूरा नहीं करने दिया। रोहित ने 74 गेंदों का सामना करते हुए एक छक्का और छह चौके लगाए। चार रन बाद नगिडी ने शमी को अपना पांचावां शिकार बनाया। नगिडी ने 151 के कुल स्कोर पर जसप्रीत बुमराह (2) को वर्नोन फिलेंडर के हाथों कैच करा अपनी टीम को जीत दिलाई।

इससे पहले, दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए अपनी पहली पारी में 335 रन बनाए थे। एडिन मार्करम ने उसके लिए पहली पारी में सबसे ज्यादा 94 रनों का योगदान दिया था। पूर्व कप्तान हाशिम अमला ने 82 और डु प्लेसिस ने 63 रन बनाए थे।

भारत की तरफ से अश्विन ने चार सफलताएं हासिल की थीं। ईशांत ने तीन विकेट लिए थे। शमी के हिस्से एक सफलता आई थी। 

भारतीय टीम अपनी पहली पारी में 307 रन ही बना सकी थी। उसके लिए कप्तान विराट कोहली ने 153 रनों की शतकीय पारी खेली थी। मुरली विजय ने 46 और अश्विन ने 38 रनों का योगदान दिया था। मेजबान टीम की तरफ से मोर्ने मोर्केल ने चार विकेट लिए थे। 

देशबंधु से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.

संबंधित समाचार