बिलासपुर इस वर्ष बनेगा ओडीएफ जिला- डॉ.रमन

बिलासपुर ! मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज जिले के कोटा विकासखण्ड के ग्राम पिपरतराई में विकास सह आवास मेला का उद्घाटन किया।...

बिलासपुर इस वर्ष बनेगा ओडीएफ जिला- डॉ.रमन

पीपरतराई में विकास सह आवास मेले का उद्घाटन किया सीएम ने,करोड़ों के कार्यों का लोकार्पण व शिलान्यास
बिलासपुर !  मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज जिले के कोटा विकासखण्ड के ग्राम पिपरतराई में विकास सह आवास मेला का उद्घाटन किया। उन्होंने कोटा में 11 करोड़ 81 लाख और रतनपुर नगर पंचायत में 12 करोड़ की लागत से जल आवर्धन योजना का प्रावधान इस बजट में करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने 02 अक्टूबर 2019 तक देश को खुले शौच से मुक्त करने का आव्हान किया है, किन्तु बिलासपुर जिला इस वर्ष के अंत तक खुले शौच से मुक्त जिला बनेगा। उन्होंने बताया कि डेढ़ वर्ष के भीतर पूरे बिलासपुर जिले के हर गांव, पारा, टोला, मोहल्ला में बिजली पहुंचाने के लिए कार्ययोजना बनाई जायेगी।    
ग्राम पिपरतराई में आयोजित कार्यक्रम में नगरीय प्रशासन, उद्योग एवं वाणिज्यिक कर मंत्री अमर अग्रवाल, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले विशेष रूप से उपस्थित थे। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने 3802.70 लाख के कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया। कार्यक्रम में 3350 हितग्राहियों को विभिन्न योजनाओं के तहत् 3717.78 लाख के सामग्रियो का वितरण भी किया। मुख्यमंत्री ने कोटा में मिनी स्टेडियम निर्माण, ग्राम पिपरतराई में कोटेश्वर महादेव तालाब का सौंदर्यीकरण, गौरवपथ निर्माण और सर्वसमाज के लिए सामुदायिक भवन निर्माण की मंजूरी दी। उपस्थित जनसमूहों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि विकास कार्यों के लिए आवेदन देने की जरूरत नहीं है। एक-एक काम को चिन्हाकित कर उसे पूरा किया जायेगा। प्रधानमंत्री आवास योजना से 2 लाख परिवारों के जीवन में परिवर्तन होगा। वर्षों से पीडि़त लोगों के जीवन में इस आवास से विश्वास आयेगा।
सोलर पंप केवल 15 हजार में मिलेगा
सौर सुजला योजना में ऐसे क्षेत्रों में जहां बिजली नहीं है वहां के 51 हजार से ज्यादा किसानों को छोटे-मोटे सिंचाई के साधन उपलब्ध कराने के लिए साढ़े चार लाख में मिलने वाला सोलर पंप 8, 10 एवं 15 हजार रूपये में मिलेगा। बिलासपुर जिले में जहां-जहां पानी के साधन है, एनीकट है वहां के 01 हजार से ज्यादा किसानों को चिन्हाकित कर इस योजना का लाभ दिया जायेगा। प्रधानमंत्री उज्जवला योजना से 35 लाख से ज्यादा घरों में खुशियां आयी हैं।
बेटियों को उच्च शिक्षा सरकार देगी
मुख्यमंत्री ने कहा कि बेटियों का कारवां सायकल पर सवार होकर चलता है तो लगता है कि योजना ऐसी ही बननी चाहिए, जो लोगों के जीवन में परिवर्तन ला सके।  उन्होंने मुख्यमंत्री खाद्यान्न सुरक्षा योजना को अपने जीवन की सबसे बड़ी योजना बताते हुए कहा कि यह योजना 60 लाख घरों में खुशियां लाने की सबसे बड़ी योजना है।
जिसमें एक रूपये किलो में खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा रहा है। बेटियों को सरकारी इंजीनियरिंग एवं मेडिकल कॉलेज की पढ़ाई करने का पूरा खर्चा सरकार देगी। पहली से 12वीं तक नि:शुल्क शिक्षा के बाद बेटियों के उच्च शिक्षा का खर्चा भी सरकार उठाएगी। अधोसंरचना के निर्माण के साथ-साथ हर व्यक्ति को स्वास्थ्य की गारंटी भी सरकार दे रही है। मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत् 50 हजार रूपये तक के ईलाज का खर्चा सरकार देगी। उन्होंने बताया कि वे दो माह प्रदेश के गांव का दौरा करेंगे और एक-एक समस्या का निराकरण करने का प्रयास करेंगे। उन्होंने विभिन्न योजनाओं से जुडऩे और स्वच्छ भारत मिशन की कल्पना को साकार करने का आव्हान किया। उन्होंने विश्वास दिलाया कि क्षेत्र के विकास के लिए कोई कमी नहीं रहने दी जायेगी। सभी को साथ लेकर विकास की दिशा में आगे बढ़ेंगे।
आवास निर्माण के लिए मिलेंगे डेढ़ लाख
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए पंचायत एवं ग्रामीण विकास, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, जिले के प्रभारी मंत्री अजय चन्द्राकर ने कहा कि मध्यप्रदेश से अलग होने के बाद छत्तीसगढ़ में 7 लाख आवासों की जरूरत थी। पहले ग्रामीण आवास योजना बनी, फिर इंदिरा आवास योजना लागू की गई। इन योजनाओं में घरों की लागत 6 हजार से बढ़ते-बढ़ते 75 हजार हो गई। अब प्रधानमंत्री आवास योजना में एक लाख 47 हजार रूपये आवास निर्माण हेतु दिए जा रहे हैं। तीन साल के भीतर हर गरीब के पास अपना पक्का मकान होगा। उन्होंने बताया कि बिलासपुर में पहले 11 हजार 372 मकान स्वीकृत किये गये थे। योजना से 15 हजार मकान और बनेंगे।
कोटा की विधायक डॉ. रेणु जोगी ने भी उपस्थित जनसमूह को संबोधित किया। उन्होंने क्षेत्र की आवश्यकताओं की ओर मुख्यमंत्री का ध्यान आकृष्ट कराया। इस अवसर पर पूर्व विधानसभा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक, सांसद श्री लखनलाल साहू, संसदीय सचिव राजू सिंह क्षत्री,  तोखन साहू, विधानसभा क्षेत्र कोटा की विधायक डॉ. रेणु जोगी, छ.ग. गृह निर्माण मण्डल के अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र सवन्नी, छ.ग. राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती हर्षिता पाण्डेय, संभागायुक्त श्रीमती निहारिका बारिक सिंह, आईजी  विवेकानंद सिन्हा, ग्रामीण बड़ी संख्या में उपस्थित थे।  
ँ    डेढ़ साल के भीतर हर गांव को रोशन करने की घोषणा


देशबंधु से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.

संबंधित समाचार

क्या महिलाओं को शांति से जीने का अधिकार नहीं है