सीसीटीवी कैमरा खरीदी में अनियमितता, जांच की मांग

खरसिया नगर में सीसीटीवी कैमरे की खरीदी में अनियमितता एवं भ्रष्टाचार बाबत् एक ज्ञापन 6 अक्टूबर को अनुविभागीय अधिकारी खरसिया अभिषेक गुप्ता को सौंप कर उक्त सीसीटीवी कैमरे खरीदी की जांच करने की मांग की ...

सीसीटीवी कैमरा खरीदी में अनियमितता, जांच की मांग
CCTV camera
हाइलाइट्स
  • जांच को लेकर एसडीएम को ज्ञापन

खरसिया। खरसिया नगर में लग रहे सीसीटीवी कैमरे की खरीदी में अनियमितता एवं भ्रष्टाचार बाबत् एक ज्ञापन 6 अक्टूबर को अनुविभागीय अधिकारी खरसिया अभिषेक गुप्ता को सौंप कर उक्त सीसीटीवी कैमरे खरीदी की जांच करने की मांग की गई। जब तक जांच नहीं हो जाती तब तक भुगतान में रोक लगाने का भी निवेदन किया गया है।  उक्त षिकायत की कापी लोकायुक्त छत्तीसगढ, नगरीय प्रषासन मंत्री अमर अग्रवाल, नगरीय प्रषासन के सचिव, कलेक्टर एवं नगर पालिका खरसिया के अध्यक्ष को भी इस संबंध में कार्यवाही करने बाबत् प्रेषित की गई है। 

खरसिया नगर के सभी चौक चौराहों में सीसीटीवी लगाने हेतु नगर पालिका परिषद खरसिया द्वारा दिनांक 01 अगस्त 2017 को निविदा आमंत्रित की गई थी। जिसमें नगर के सीसीटीवी कैमरा व्यावसायी संदीप कम्प्युटर के संचालक संदीप गुप्ता द्वारा भी सभी शर्तो का पालन करते हुए उच्च गुणवतायुक्त सामान कम दर पर निविदा डाली गई थी। निविदा खुलने पष्चात जो तुलनात्मक दर बनाया गया। उसमें कई वस्तुओं का दर संदीप गुप्ता का कम था और कुछ वस्तुओं के समान दर थे।  जिस पर संदीप गुप्ता द्वारा मुख्य नगर पालिका अधिकारी को लिखित में मांग की गई थी। जिन वस्तुओं में मेरे दर कम है।

उसको प्रदाय करने का कार्यादेष मुझे प्रदान करे। किंतु पालिका प्रषासन ने इन सब बातो को परे रखते हुए संदीप गुप्ता को कार्यादेश न देते हुए किसी अन्य फर्म को दे दिया गया।  जिससे संदीप गुप्ता द्वारा इस पूरे मामले की जांच हेतु एक लिखित आवेदन मुख्य नगर पालिका अधिकारी को दिया गया है।  जिसमें उसके द्वारा उल्लेख किया गया है कि आपके द्वारा जारी की गई निविदा सूचना क्र. 947 दिनांक 01 अगस्त 2017 में सीसीटीवी कैमरे के लिये वस्तु दर पर निविदा आमंत्रित की गई है। जिसकी निविदा मे मैने भी भाग लिया था एवं सभी शर्तो का पालन करते हुए उच्च गुणवत्तायुक्त सामान कम दर पर भरी गई थी। तुलनात्मक दर जो निविदा खुलने के बाद बनाई गई थी उसमें कई वस्तुओं में मेरे दर कम थे एवं कुछ वस्तुओं पर समान थे।

जिसके लिये मैने आपसे कम दर वाले वस्तुओ ंको प्रदाय करने का कार्यादेष देने की लिखित मांग रखी थी जिसकी पावती अप्राप्त है एवं तुलनात्मक दर सूची भी पत्र के साथ संलग्न है। उपरोक्त निविदा में वस्तुओं के अनुसार दर जो आमंत्रित की गई थी उसं तुलनात्मक सूची मे ंदर कम होने के बाद कार्यादेष बिना गुणवत्ता को ध्यान में रखते हुए दिया गया उससे शासन को नुकसान पहुंचाने के साथ ही साथ व्यक्ति विषेष को लाभांवित करने की जो कोषिष की जा रही है। इससे नगर पालिका का भ्रष्टाचार उजागर होता है। मुझे ऐसी जानकारी मिली है कि उक्त निविदा की सामग्री चाइना से बनी हुई गुणवत्ता विहिन तथा भारत शासन द्वारा आरोपित जीएसटी नियमों के विपरीत तथा चाइना निर्मित सामग्री पर बिना आई.एस.ओ. मार्का वाली है।

फिर भी नगर पालिका द्वारा प्राप्त कर शासन को आर्थिक क्षति पहुंचायी जा रही है।  इसकी भी जांच में खरीदी बिलों का अवलोकन कर पूर्ण जांच करने के पष्चात ही भुगतान करें अन्यथा आप, शाखा प्रभारी, लेखापाल एवं संबंधित पदाधिकारी व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार होगें व भ्रष्ट आचरण में लिप्त माने जावेगें। निविदा दर क्र. 16 में फिटिंग के पैसे यदि जोडे गये है एवं कार्यादेष के क्र. 15 में ये पैसे दिये जाने है तो फिर नगर पालिका के कर्मचारी व लोडर मषीन इत्यादि किस नियम, आदेष और दर पर क्यों प्रदायकर्ता को उपलब्ध कराये गये है।  कृपया उपरोक्त विषय में कार्यवाही कर एवं जांच करते  समय मुझे भी अपना पक्ष प्रस्तुत करने का अवसर प्रदान करें जिससे मै विडियोग्राफी प्रस्तुत कर सकूं।

उक्त संबंध में जब तक जांच नहीं हो जाती तब तक ठेकेदार के भुगतान पर रोक लगाने की कृपा करें। उक्त षिकायत की कापी लोकायुक्त छत्तीसगढ, नगरीय प्रशासन मंत्री अमर अग्रवाल, नगरीय प्रषासन के सचिव, कलेक्टर एवं नगर पालिका खरसिया के अध्यक्ष को भी इस संबंध में कार्यवाही करने बाबत् प्रेशित की गई है। 

बिना इंटरनेट सेवा के कैसे संचालित होगा सीसीटीवी कैमरा  

सीसीटीवी कैमरे हेतु इंटनरनेट सेवा की आवष्यकता अनिवार्य है, किंतु नगर पालिका परिषद खरसिया द्वारा किसी भी इंटरनेट सर्विस वालों से कोई अनुबंध नहीं किया गया है।  तो फिर सीसीटीवी कैमरे लगाने का क्या क्य औचित्य।  क्योंकि बिना इंटरनेट सेवा के सीसीटीवी कैमरों एनव्हीआर से संपर्क ही नहीं होगा तो फिर रिकार्डिग कैसे संभव होगा।


 पालिकाकर्मी व पालिका के वाहनों से लग रहा सीसीटीवी कैमरा

 नगर के चौक चौराहो में लगने वाले सीसीटीवी कैमरा को ठेकेदार के कर्मचारियों द्वारा न लगाते हुए नगर पालिका परिषद खरसिया के कर्मचारियों द्वारा नगर पालिका के वाहन लोडर का उपयोग करते हुए चौक चौराहो के खंभो में लगाया जा रहा है।  इस प्रकार से पालिका प्रषासन द्वारा अघोषित रूप से ठेकेदार को लाभ पहुंचाया जा रहा है।

संबंधितों से जवाब लेकर होगी कार्रवाई: एसडीएम

इस संबंध में खरसिया एसडीएम अभिषेक गुप्ता से बात किये जाने पर उन्होने कहा कि सीसीटीवी कैमरा लगाने में अनियमितता, निविदा शर्तो का उलंघन एवं अमानक सामाग्री की सप्लाई की षिकायत मिली है  जिस पर संबंधितों से जवाब लेकर आगे कार्यवाही की जायेगी।  

सीएमओ ने नहीं उठाया फोन

इस संबंध में खरसिया नगर पालिका के सीएमओ प्रवीण सिंह गहलोत के मोबाई नं. 9977424466 पर प्रतिक्रिया जानने के लिए दो बार मोबाईल से संपर्क किया गया। दोनों बार घंटी बजती रही  पर मोबाईल नही उठा।

देशबंधु से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.

संबंधित समाचार