राजधानी डकैती पर जागा रेलवे

मुंबई से दिल्ली आ रही भारतीय रेल की प्रीमियम रेलगाड़ी में शुमार राजधानी में डकैती के बाद रेल मंत्रालय ने आज नींद से जागते हुए ऑन बोर्ड हाउस कीपिंग स्टाफव कोच सहायक स्टाफ के खिलाफ कार्रवाई करते हुए...

एजेंसी
राजधानी डकैती पर जागा रेलवे
railway
हाइलाइट्स
  • 14 रेल कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई, जांच के लिए मुंबई भेजी तीन सदस्यीय टीम
  • राजधानी एक्सप्रेस में लगेंगे सीसीटीवी कैमरे
  • सात कोच में डकैती, पुलिस ने कहा चोरी अब हो रही है जांच

नई दिल्ली। मुंबई से दिल्ली आ रही भारतीय रेल की प्रीमियम रेलगाड़ी में शुमार राजधानी में डकैती के बाद रेल मंत्रालय ने आज नींद से जागते हुए ऑन बोर्ड हाउस कीपिंग स्टाफव कोच सहायक स्टाफ के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें रेलगाड़ी की ड्यूटी से हटा दिया है। हटाए गए कुल 14 लोगों में सात लोग हाउस कीपिंग का काम करते थे और ये ठेकेदार के कर्मचारी बताए जाते हैं। जबकि बाकी सात रेलवे व ठेकेदार दोनों केकर्मी शामिल हैं। इसके साथ ही जांच के लिए पश्चिमी रेलवे के जांच कर्मियों को सहायता देने व निगरानी के लिए तीन सदस्यीय टीम को भी मुंबई भेजा है।

गौरतलब है कि रेलवे की जांच में अभी तक यह स्पष्टनहीं हो सका है कि चोरी की यह वारदात रतलाम से पहले हुई हैं अथवा रतलाम स्टेशन से मथुरा के बीच। हालांकि शुरूआती जांच में यह तथ्य निकल कर आए हैं कि जिन सात कोच में चोरी से कई लाख रूपए की चपत यात्रियों को लगाई गई है, उनमें सुरक्षा के प्रबंध रतलाम के बाद किए गए हैं।

यह भी जांच से पता चला है कि चोरी की घटना रतलाम से पहले हुई थी। वहीं रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ ) कर्मियों ने जांच शुरू करते हुए सभी पहलुओं को खंगालना शुरू कर दिया है। इनकी जांच को सही दिशा देने व निगरानी के लिए एक राजपत्रित स्तर के सुरक्षा अधिकारी सहित तीन सदस्यीय टीम को भी भेजा है।


रेलवे अधिकारियों ने बताया कि चोरी की वारदात ए1, ए3 के साथ साथ बी-5, 6, 7, 9, 10 सहित कुल सात कोच में हुई। कोच सहायक व बिस्तर आदि देने वाले इन 14 कर्मियों के खिलफ गहन जांच की जाएगी। जांच पूरी होने तक यह सभी कर्मी रेलगाड़ी की ड्यूटी पर नहीं जा सकेंगे।

रेल मंत्रालय के अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार देश भर की 2200 रेलगाड़ियों की सुरक्षा व्यवस्था राज्य पुलिस के आधीन, जीआरपी कर रही है और 2500 रेलगाड़ियों की सुरक्षा व्यवस्था आरपीएफसंभालती है।

रेलवे के सदस्य यातायात मोहम्मद जमशेद ने इस बाबत बताया किरेलगाड़ियों के कोच संवारने की परियेाजना स्वर्ण में सभी राजधानी एक्सप्रेस को प्राथमिकता से सीसीटीवी युक्त बनाया जाएगा। उन्होंने उम्मीद जताई कि अक्टूबर से इस योजना में शामिल कोच पटरी पर उतरने शुरू हो जाएंगे।

देशबंधु से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.

संबंधित समाचार