बधाई हो मोदीजी
बधाई हो मोदीजी

मोदीजी को बधाई। इसलिए नहींकि वे एक बार फिर अमरीका पहुंच गए हैं, एक बार फिर वहां के बड़े व्यापारियों को भारत में निवेश का न्यौता दे रहे हैं

देशबन्धु
2017-06-27 01:02:31
स्वर्ग का शोक संगीत
स्वर्ग का शोक संगीत

जम्मू-कश्मीर में कानून-व्यवस्था, जनअसंतोष, हिंसा की घटनाएं बेकाबू होती जा रही हैं

देशबन्धु
2017-06-26 12:58:27
देश का नवनिद्राकाल
देश का नवनिद्राकाल

इंदिरा गांधी के गरीबी हटाओ नारे का मखौल उड़ाने, उसका विरोध करने में भाजपा हमेशा आगे रही है

देशबन्धु
2017-06-23 00:38:46
योग का तमाशा
योग का तमाशा

योग को तो हम भारतीय युगों से देखते आ रहे हैं, अब योग का तमाशा भी देख रहे हैं

देशबन्धु
2017-06-22 02:34:07
दलित कब सुविधाजनक लगते हैं
दलित कब सुविधाजनक लगते हैं

दलित हमें अपने समाज में तभी तक सुविधाजनक लगते हैं, जब तक वे तथाकथित रूप से शास्त्रों में कहे गए कार्यों को करते रहें

देशबन्धु
2017-06-21 01:03:19
क्रिकेट के आगे जहां और भी है
क्रिकेट के आगे जहां और भी है

रविवार को लंदन में क्रिकेट की चैंपियंस ट्राफी के बहुचर्चित फाइनल मुकाबले में पाकिस्तान ने चैंपियंस की तरह खेलकर जीत अपने नाम की

देशबन्धु
2017-06-19 23:41:23
प्रश्न पूछना भी देशप्रेम है
प्रश्न पूछना भी देशप्रेम है

दया, धर्म, करुणा, उदारता और ऐसे अनेक मानवीय गुणों की माला जपने वाला भारतीय समाज कब और कैसे इतना हिंसक हो गया कि अपने स्वार्थ के लिए किसी निर्दोष ...

देशबन्धु
2017-06-19 00:30:47
गोरखालैंड की मांग
गोरखालैंड की मांग

चायबागानों और प्राकृतिक सुंदरता के लिए विख्यात प.बंगाल का दार्जलिंग एक बार फिर सुलग रहा है

देशबन्धु
2017-06-15 22:27:42
बिल्ली हज पर कहां जाती है
बिल्ली हज पर कहां जाती है?

इंसानी फितरत है, अपनी बुराइयों को दर्शाने के लिए वह खुद की जगह दूसरों का उदाहरण पेश करता है, खासकर जानवरों का

देशबन्धु
2017-06-15 00:35:56
ब्रिटेन के नतीजे
ब्रिटेन के नतीजे

आत्मविश्वास और अतिआत्मविश्वास के बीच एक महीन रेखा होती है, जिसके हटते ही आत्मविश्वास दर्प में बदल जाता है

देशबन्धु
2017-06-14 00:08:59
अब देश भी बिकेगा आप बेखबर रहेंगे
अब देश भी बिकेगा, आप बेखबर रहेंगे

गनीमत है कि माउंट एवरेस्ट भारत में नहीं है, अन्यथा न जाने कब चुपके से उसे निजी संपत्ति घोषित कर दिया जाता और संसार के सबसे ऊंचे शिखर पर पहुंचने क...

देशबन्धु
2017-06-12 23:54:54
बापू की जाति 
बापू की जाति 

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को किताबें] खासकर इतिहास और राजनीति की किताबें पढऩे में कितनी दिलचस्पी है] पता नहीं। महात्मा गांधी को वे कितना जानते हैं] ...

देशबन्धु
2017-06-12 11:32:59
मध्यप्रदेश का किसान आंदोलन
मध्यप्रदेश का किसान आंदोलन

1956 में अपने निर्माण के बाद मध्यप्रदेश ने उतनी हिंसा कभी नहीं देखी, जितना वह आज देख रहा है.....

देशबन्धु
2017-06-12 11:16:51
कतर को बिरादरी बाहर करने के मायने
कतर को बिरादरी बाहर करने के मायने

खाड़ी देश चरमपंथ के नाम पर दो गुटों में बंट गए हैं, लेकिन इस बार के खाड़ी संकट का भी कारण वही है, जो 90 के दशक में था, इस इलाके का तेल व गैस संपदा...

देशबन्धु
2017-06-08 22:25:16
बहुत हुआ किसानों पर अत्याचारकेवल जुमला था
बहुत हुआ किसानों पर अत्याचार....केवल जुमला था

सरकार भले विपक्ष निशाना साधे लेकिन किसानों के साथ विपक्षियों जैसा व्यवहार तो न करे। बहुत हुआ किसानों पर अत्याचार, अबकी बार मोदी सरकार, ऐसे नारे क...

देशबन्धु
2017-06-07 23:07:21
सिगरेट बुझाने के लिए भी स्त्री
सिगरेट बुझाने के लिए भी स्त्री

इस तथाकथित रचनात्मक सजावटी ऐश-ट्रे में एक नग्न महिला को टब के ऊपर लेटा हुआ दिखाया गया है। यह पूंजीवाद का एक और घिनौना चेहरा है और साथ ही हमारे दे...

देशबन्धु
2017-06-06 22:34:40
किसानों की हड़ताल
किसानों की हड़ताल

कृषि प्रधान देश में किसान आत्महत्या करने लगे और समाज जीडीपी के आंकड़े ही देखता रहा। अब भी वह देख रहा है कि कैसे अनाज, फल, सब्जी, दूध को सड़कों प...

देशबन्धु
2017-06-05 22:50:30
वर्ल्ड हैज़ फॉलन
वर्ल्ड हैज़ फॉलन

ब्रिटेन जिस वक्त आतंकी हमले का शिकार हुआ, उसके कुछ ही समय पहले भारतीय प्रधानमंत्री और फ्रांसीसी राष्ट्रपति आतंकवाद से मिलकर लड़ने का ऐलान कर रहे ...

देशबन्धु
2017-06-04 23:07:01
प्रतिभाओं को संवरने का मौका दीजिए
प्रतिभाओं को संवरने का मौका दीजिए

अकूत संभावनाओं से भरी ये लड़कियां समाज के लिए जीता-जागता संदेश हैं कि लोग किसी सूरत में लड़के और लड़की में भेद न करें। यह समझें कि उनमें केवल प्र...

देशबन्धु
2017-06-01 23:05:20
स्कूली शिक्षा में सुधार की दरकार
स्कूली शिक्षा में सुधार की दरकार

स्कूली शिक्षा व्यवस्था की बदहाली केवल बिहार नहीं, भारत के अधिकतर राज्यों में है। समस्या यह है कि इस कमजोरी को स्वीकार करने की जगह लीपापोती की जात...

देशबन्धु
2017-05-31 23:53:44
मवेशियों की रक्षा बनाम इंसान
मवेशियों की रक्षा बनाम इंसान

जानवरों की रक्षा होनी चाहिए, उनके साथ क्रूरता भी गलत है। लेकिन इसके लिए इंसानों का जीवन खतरे में डालना भी सही नहींहै। मोदी सरकार को इस फैसले के व...

देशबन्धु
2017-05-30 22:17:04