जम्मू-कश्मीर  चिंता में और इजाफा
जम्मू-कश्मीर : चिंता में और इजाफा

जम्मू-कश्मीर में बिगड़ते हालात पर काबू पाने की एक कोशिश होती नहींकि नयी चिंता, नए सवालों के साथ प्रकट हो जाती है। अभी इसी हफ्ते मुख्यमंत्री महबूब...

देशबन्धु
2017-04-27 22:16:23
जम्मू-कश्मीर की फिक्र करें
जम्मू-कश्मीर की फिक्र करें

देश में एक बार फिर भाजपा ने अपनी सुनियोजित रणनीति के तहत इस चर्चा को महत्वपूर्ण बना दिया कि मोदी लहर कायम है और इसमें उसका सहभागी, सहयोगी या सहाय...

देशबन्धु
2017-04-26 22:45:17
बंदूक के भरोसे न रहे सरकार
बंदूक के भरोसे न रहे सरकार

नक्सलियों का हमला कायराना हरकत है। जवानों की शहादत बेकार नहींजाएगी। हम इस हमले की कड़ी निंदा करते हैं। ऐसे कुछ घिसे-पिटे वाक्यों की आड़ में राज्य...

देशबन्धु
2017-04-26 05:32:49
शराबबंदी और महुआ नीति की वापसी
शराबबंदी और महुआ नीति की वापसी

राज्य में शराबबंदी का मुद्दा अब ठंडा पड़ता हुआ दिखाई दे रहा है। सरकार ने शराबबंदी लागू करने पर सिद्धांत रूप से अपनी सहमति दर्शाते हुए इसे धीरे-धी...

देशबन्धु
2017-04-26 01:17:45
इंसानियत का गिद्धभोज
इंसानियत का गिद्धभोज

27 जुलाई 1994 को 33 साल की आयु में केविन कार्टर ने आत्महत्या कर ली। मौत के लिए उन्होंने उसी बागीचे को चुना जहां वो बचपन में खेलने जाया करते थे और...

देशबन्धु
2017-04-25 05:20:00
रियल एस्टेट में धोखाधड़ी पर लगाम
रियल एस्टेट में धोखाधड़ी पर लगाम

अपना एक घर हो, हर किसी का सपना होता है। देश में रियल एस्टेट का कारोबार जिस तेजी से बढ़ा है उसी तेजी से ग्राहकों के साथ धोखाधड़ी भी बढ़ी है।

देशबन्धु
2017-04-25 05:06:04
बत्ती उतर गई ऐंठन न गई
बत्ती उतर गई, ऐंठन न गई

पलाश सुरजन प्रधानमंत्री मोदी जी ने भले ही विशिष्ट व्यक्तियों की गाडिय़ों से लालबत्ती हटाने का ऐलान कर दिया हो और भले ही उनके मुखारबिंद से फूटे ए...

देशबन्धु
2017-04-24 22:31:25
आभार मान लें वर्ना
आभार मान लें वर्ना...

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लाल किले की प्राचीर से लेकर चुनावी सभाओं तक कई बार देश को यह समझाने की कोशिश कर चुके हैं कि वे, उनकी पार्टी धार्मिक, स...

देशबन्धु
2017-04-23 23:48:52
भगवान के घर के नाम ही अंधेरगर्दी है
भगवान के घर के नाम ही अंधेरगर्दी है

राम मंदिर बन कर रहेगा, कोई माई का लाल उसे नहीं रोक सकता...अपराध अभी प्रमाणित नहीं हुआ है और मैं राम, गंगा और अयोध्या के लिए इंद्र का पद भी छोड़ स...

देशबन्धु
2017-04-21 05:39:15
वर्षाजल का संरक्षण भी बने अभियान
वर्षाजल का संरक्षण भी बने अभियान

दो साल पहले जब देश के अधिकांश हिस्सों में कम बारिश हुई थी, इन्हीं गर्मियों के दिनों में पेयजल संकट पर चिन्ता और जल संरक्षण के उपायों पर कहीं न कह...

देशबन्धु
2017-04-20 23:00:17
धिक्कार है
धिक्कार है...

पिछले साल मार्च में दिल्ली में यमुना किनारे ऑर्ट ऑफ लिविंग संस्था की ओर से तीन दिन का विश्व संस्कृति महोत्सव आयोजित किया गया था। जिसकी वजह से यमु...

देशबन्धु
2017-04-20 05:16:48
अफसरशाहों को कड़ा संदेश
अफसरशाहों को कड़ा संदेश

सरकार की योजनाएं लोगों तक पहुंचे यह देखने की पहली जिम्मेदारी उन अफसरों की ही होती है, जिन्हें जिला स्तर पर निर्णय लेने का अधिकार है।

देशबन्धु
2017-04-19 22:21:09
स्त्रियों की पीड़ा एक जैसी है
स्त्रियों की पीड़ा एक जैसी है

तीन तलाक का मुद्दा इस वक्त देश के सर्वाधिक विषयों में से एक बन गया है और इसका पूरा श्रेय भाजपा को जाता है।

देशबन्धु
2017-04-18 22:48:07
ठंडा लेंगे या गरम
ठंडा लेंगे या गरम?

हाल ही में जम्मू-कश्मीर में चेनानी-नाशरी सुरंग का लोकार्पण प्रधानमंत्री ने किया और इस अवसर पर संबोधित करते हुए यह कहा कि युवाओं को तय करना है कि ...

देशबन्धु
2017-04-17 22:55:01
इनके पास मां है उनके पास बाप
इनके पास मां है, उनके पास बाप

डोनाल्ड ट्रंप के चुनावी वादों में एक था आईएस के आतंक का खात्मा करना और शायद इसलिए अफगानिस्तान में आईएस के कथित ठिकाने पर लगभग दस हजार किलो वजनी ब...

देशबन्धु
2017-04-16 20:51:52
सस्ताग्रह का दौर
सस्ताग्रह का दौर

अच्छे दिनों की सही परिभाषा क्या है, इस बारे में बहुत भ्रम फैला हुआ है। यह भी तय नहींहै कि क्या अच्छे दिन काल और व्यक्ति सापेक्ष होते हैं?

देशबन्धु
2017-04-13 22:47:55
पाकिस्तान कमजोर लोकतंत्र मजबूत सेना
पाकिस्तान कमजोर लोकतंत्र, मजबूत सेना

पाकिस्तान का अस्तित्व भारत विरोध पर टिका हुआ है और उससे भी बढक़र वहां के सैन्य प्रतिष्ठान को आक्सीजन भारत के खिलाफ जहर उगलने से ही मिलती है,

देशबन्धु
2017-04-12 22:39:32
लोकतंत्र की विफलता
लोकतंत्र की विफलता

श्रीनगर उपचुनाव में महज 7 प्रतिशत मतदान और हिंसा में आठ लोगों की मौत दुखद घटना है, और लोकतंत्र के लिहाज से बेहद शर्मनाक भी। श्रीनगर की इस चुनावी...

देशबन्धु
2017-04-11 23:03:39
क्या महिलाओं को शांति से जीने का अधिकार नहीं है