अपराधियों व काले धन के खिलाफ मिलकर लड़ेंगे भारत-थाईलैंड

बैंकाक से राजीव रंजन श्रीवास्तव : भारत और थाईलैंड ने राष्ट्रीय हितों के खिलाफ काम करने वाले अपराधियों, आतंकवाद, अंतरराष्ट्रीय अपराधों में शामिल लोगों सहित भगोड़े अपराधियों के द्विपक्षीय प्रत्यर्पण संधि पर हस्ताक्षर किए।...

राजीव रंजन श्रीवास्तव

बैंकाक !  भारत और थाईलैंड ने राष्ट्रीय हितों के खिलाफ काम करने वाले अपराधियों, आतंकवाद, अंतरराष्ट्रीय अपराधों में शामिल लोगों सहित भगोड़े अपराधियों के द्विपक्षीय प्रत्यर्पण संधि पर हस्ताक्षर किए। काले धन को वैध करने और आपराधिक गतिविधियों के संदिग्ध व्यक्तियों की जांच में सहयोग की सुविधा के लिए भी दोनों देशों के बीच संधि समझौते पर हस्ताक्षर हुए।  वैसे विदेशी नागरिक जिन्हें किसी अपराध में सजा हुई है-उसे सामाजिक पुनर्वास के लिए स्वदेश भेजने और अपने देश में सजा पूरी करने  के प्रस्ताव पर भी हस्ताक्षर हुए। प्रत्यर्पण को लेकर पिछले दो दशक से भारत व थाईलैंड के बीच बातचीत चल रही थी। हस्ताक्षर करने के बाद भारत ने भगौड़े अपराधियों की सूची थाईलैंड सरकार को सौंपी है।
उल्लेखनीय है कि भारत के प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह और और थाईलैंड की प्रधानमंत्री सुश्री येंग्लक शिनावात्रा के बीच आज पहली द्विपक्षीय शिखर वार्ता थाईलैंड की राजधानी बैंकाक में हुई। जिसमें आसिआन की मजबूती और सामरिक साझेदारी पर चर्चा हुई। इस वार्ता के दौरान दोनों देशों के बीच सात अहम समझौतों पर सहमति बनी। जिसपर भारत की ओर से विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद और थाईलैंड में भारत के राजदूत अनिल वाधवा ने हस्ताक्षर किए। समझौतों के अंतर्गत दोनों देश आर्थिक, वैज्ञानिक, शैक्षिक, तकनीकी और सांस्कृतिक सहयोग, द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ावा देने के लिए सेमिनार, कार्यशालाओं, विद्वानों, शिक्षाविदों, पेशेवरों के माध्यम से शिक्षा और संस्कृति के क्षेत्र में सहकारी गतिविधियों के लिए गैर सरकारी संगठनों को वित्तीय सहायता देने,  थाई साहित्य को भारतीय भाषाओं में अनुवाद को बढ़ावा देने पर जोर देंगे।  विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग के लिए  च्चइंडो-थाई भू-स्थानिक सहयोग नामक परियोजना, 2015 में राजकुमारी महाचाकरी सिरिन्धोन के जन्मदिन की सालगिरह और आसिआन आर्थिक समुदाय पर बुध्दिम से सम्बंधित  एक पुरातात्विक एटलस  प्रकाशित करने के लिए भी संधि हुई। थाईलैंड के थम्मासत विश्वविद्यालय में हिंदी भाषा में सनातक के लिए भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद के द्वारा विशेष शिक्षा व्यवस्था पर भी संधि हुई।
थाईलैंड के उप प्रधानमंत्री ने की मनमोहन सिंह की अगुआई
प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह अपनी विदेश यात्रा के दुसरे चरण में दो दिवसीय यात्रा पर आज थाईलैंड की राजधानी बैंकाक पहुंचे। विमानतल पर उनकी अगुआई के लिए थाईलैंड के उप प्रधानमंत्री और कृषि तथा सहकारी मंत्री युकोल लिम्लाम्थोंग और उनकी पत्नी पहले से मौजूद थे। उप प्रधान मंत्री के अलावा थाईलैंड के सूचना एवं संचार मंत्री अनुदित नकोर्न्थाप और भारत में थाईलैंड के राजदूत पिसान मनवपत भी सपत्नीक उपस्थित थे।

देशबंधु से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.

Deshbandhu के आलेख